कोरोना वायरस को लेकर रतन टाटा के नाम से वायरल हुआ फर्जी पोस्ट, दिग्गज कारोबारी ने फेक न्यूज पर जारी किया स्पष्टीकरण

0

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच इस समय देश में फर्जी ख़बरे भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं। इस बीच, देश के दिग्गज कारोबारी रतन टाटा के नाम से भी एक पोस्ट जमकर वायरल हो रही है। वॉट्सऐप सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से फैल रहे इस फर्जी पोस्ट पर खुद रतन टाटा ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने एक ट्वीट करते हुए इस फर्जी पोस्ट को लेकर अपनी बात रखी है।

रतन टाटा

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, “ये बातें न तो मैंने कही हैं और न ही लिखी हैं। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि वॉट्सऐप और अन्य मीडिया प्लेटफॉर्म पर सर्कुलेट हो रहे इस पोस्ट की सत्यता का पता लगाएं। अगर मुझे कुछ कहना होता है तो मैं अपने ऑफिशल चैनल के जरिए कहता हूं। आशा करता हूं कि आप लोग सुरक्षित होंगे और अपना खयाल रख रहे होंगे।”

बता दें कि, वॉट्सऐप सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रतन टाटा के नाम से जो पोस्ट सर्कुलेट हो रहा है उसका शीर्षक है, ‘वेरी मोटिवेशनल ऐट दिस आवर।’ पोस्ट में कहा गया है कि, ‘एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोरोना वायरस की वजह से अर्थव्यस्था तहस-नहस हो जाएगी। मैं इन विशेषज्ञों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता हूं। लेकिन मैं यह बात अवश्य जानता हूं कि इन विशेषज्ञों को मानवीय प्रेरणा और जुनून के साथ किए गए प्रयासों के बारे में कुछ नहीं पता।’

पोस्ट में आगे लिखा है, ‘अगर एक्सपर्ट्स पर विश्वास करते तो द्वितीय विश्व युद्ध में पूरी तरह बर्बाद हो चुके जापाने का कोई भविष्य नहीं होता। लेकिन महज तीन दशक में ही जापान में बाजार में अमेरिका को रुला दिया। अगर विशेषज्ञों पर विश्वास करते तो अरब देशों ने कबका इजरायल का दुनिया के नक्शे से नाम मिटा दिया होता, लेकिन तस्वीर कुछ और है।’

आगे पोस्ट में कहा गया है, ‘अगर विशेषज्ञों की बात मानते तो 1983 में भारत विश्व कप नहीं जीतता। अगर विशेषज्ञों की मानते तो एथलेटिक्स में 4 स्वर्ण पदक जीतने वाली विल्मा रूडोल्फ का चलना भी मुश्किल था, दौड़ना तो दूर की बात है। अगर विशेषज्ञों की मानते तो अरुणिमा शायद ही आसानी से जीवन जी पाती, लेकिन उसने तो माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई सफलतापूर्क पूरी कर ली।’ पोस्ट में आगे कहा गया है, ‘कोरोना संकट भी कोई दूसरा मामला नहीं है। इस बात पर मुझे कोई शक नहीं कि हम कोरोना वायरस को हरा देंगे और भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूती से वापसी करेगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here