VIDEO: ट्रेन में बीमार मुस्लिम महिला से बलात्कार करने वाले आरोपी को मिल रही है VIP सुविधा

0

मंगलवार को लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में चलती ट्रेन के विकलांग कोच में रेलवे के सिपाही कमल शुक्ला ने एक बीमार मुस्लिम महिला से बलात्कार किया था। जनता का रिपोर्टर ने स्थानीय प्रशासन से घटना पर बात करते हुए सबसे पहले खबर प्रकाशित की थी। सिपाही की गिरफ्तारी के बाद खबर का संज्ञान आने पर कमल शुक्ला को निलंबित कर दिया गया था।

बलात्कार

लेकिन बाद में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें बलात्कार का अरोपी सिपाही कमल शुक्ला को थाने में वीआईपी सुविधा दी जा रही है। वह आराम से सम्मान के साथ पंखें में बैठा हुआ मेज-कुर्सी पर खाना खा रहा है। जब पत्रकार ने सवाल किया कि बलात्कार के आरोपी को यह सुविधा क्यों दी जा रही है तो जवाब मिला कि मानवीय आधार पर ये बर्ताव किया जा रहा है और अभी आरोप साबित नहीं हुआ है।

वैसे भी इस सिपाही की बलात्कार के बाद जो तस्वीरें सोशल मीडिया पर आई थी उसमें जाहिर हो रहा था कि उसे इस अपराध से कोई फर्फ नहीं पड़ता है वह गर्व के साथ सीना चौड़ा करके आराम से जाते हुए देखा गया था। जब इस बारें में जनता का रिपोर्टर ने बिजनौर प्रशासन से बात की तो उन्होंने बताया कि अब ये मामला मुरादाबाद थानें में है आप वहीं से पता करों। जब मुरादाबाद पुलिस से इस बारें में जानकारी पता करनी चाही तो आला अफसरों के संज्ञान में यह बात नहीं थी उन्हांेने किस थाने में यह वीडियो बनाया गया है कहकर बात खत्म कर दी।

योगी सरकार में लगातार कई घटनाएं इस तरह से बढ़ी है जिस पर सरकार ने सख्त कदम उठाने की बात कही है। लेकिन सरकार बलात्कार के आरोपियों को किस प्रकार से सुविधा प्रदान कर रही है अब यह किसी से छिपा नहीं है।

आपको बता दे कि कल जब ट्रेन बिजनौर स्टेशन पर रूकी तो बेहोशी की हालात में महिला को ट्रेन से उतारा गया। मौके पर सिपाही को सदिग्ध अवस्था में पकड़ा गया। स्टेशन पर ही लोगों ने सिपाही के साथ मारपीट शुरू कर दी थी, जिसके बाद बिजनौर के एसपी सिटी राजधारी चौरसिया ने ने सिपाही को गिरफ्तार किया था।

यह बीमार महिला मेरठ के लिसाड़ी गेट की रहने वाली है और लखनऊ इलाज के लिए गई थी और गलती से इस ट्रेन में बैठ गई थी। बिजनौर के चांदपुर में तबियत खराब होने पर रेलवे के सिपाही कमल शुक्ला ने उसे सीट दिलाने के बहाने विकलांग कोच में ले गया और वहां उसने दरवाजा बंद कर बीमार महिला के साथ बलात्कार किया।

उसी समय उमेश नाम के एक लड़के ने सिपाही कमल शुक्ला की इस हरकत की तस्वीरें खींच ली। उमेश ने बताया कि अगल ऐसा किसी मुस्लिम बहन के साथ हो सकता है तो हिन्दू बहन के साथ भी हो सकता है। इस खबर को लेकर सोशल मीडिया पर कहा जा रहा था कि बलात्कार की पीड़ित महिला रोजेदार थी जो कस्बा चांदपुर से बिजनौर के लिए ट्रेन में चढ़ी थी।

रेलवे पुलिस के जवान ने इस रोजेदार महिला से बलात्कार किया जिसके बाद स्टेशन पर हंगाम मच गया। जबकि अभी तक इस महिला के रोजा रखने की बात की पुलिस ने पृष्टि नहीं की है। दुष्कर्म की पृष्टि के लिए स्लाइड को जांच के लिए भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here