रामदेव का एक और विवादित बयान, कहा दाल महंगी हुई तो मोदी नही जिम्मेदार, जनता दाल में पानी मिला कर खाएं

3

एक समय था जब रामदेव भरष्टाचार, महंगाई और कालाधन जैसे मुद्दों पर उस समय की कांग्रेस सरकार को घेरते थे और बात बात पर राष्ट्रव्यापी आंदोलन की धमकी दे डालते थे।

वो समय कुछ और था और अब समय बदल चुका है। अब सत्ता में रामदेव की सबसे प्रिय पार्टी भाजपा है तो रामदेव को ना देशवासियों का हित याद है और न ही देशभक्ति का अपना खुद का पढ़ाया हुआ पाठ। खुद को बाबा बताने वाले रामदेव को अब उन्हीं समस्याओं पर सवाल उठाया जाना हरगिज़ गवारा नहीं हैं जिन पर वो आये दिन कभी आपा खोया करते थे।

अब जब दाल की कीमत हर रोज़ आसमान छू रही है और इसकी वजह से केंद्र की भाजपा सरकार की किरकिरी हो रही तो बाबा को अच्छा नहीं लग रहा है।

हरयाणा के फरीदाबाद में उन्होंने एक और विवादित बयान में कह दिया कि दाल के 200 रूपये किलो होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरना ठीक नहीं है बल्कि उनका कहना है कि देशवासियों को चाहिए की गाढ़ी दाल खाने के बजाय वो दाल में ज़्यादा पानी डाल कर उसे खाया करें क्योंकि न सिर्फ इससे दाल के सेवन में बचत होगी बल्कि इससे सेहत पर भी अच्छा प्रभाव पड़ेगा।

बाबा के नए नुस्खे के अनुसार गाढ़ी दाल खाने से जोड़ का दर्द बढ़ता है।

पिछले दिसंबर में रामदेव ने दाल न खाने का समर्थन करते हुए कहा था की दाल में मौजूद प्रोटीन का स्वास्थ पर ख़राब प्रभाव पड़ता है। उस समथ भी दाल की कीमत 200 रूपए हो गई थी।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here