UN में सुषमा स्‍वराज के भाषण पर मशहूर इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कसा तंज

0

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 72वें सत्र को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार(23 सितंबर) को कहा कि संयुक्त राष्ट्र जिन समस्याओं का समाधान तलाश रहा है उनमें आतंकवाद सबसे ऊपर है। आतंकवाद को मानवता के अस्तित्व के लिए खतरा करार देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि अगर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद आतंकवादियों को प्रतिबंधित सूची में डालने पर सहमत नहीं हो सकती तो फिर अंतरराष्ट्रीय समुदाय आतंकवाद की समस्या का कैसे मुकाबला करेगा।

File photo: THE HINDU

अपने संबोधन में सुषमा ने कहा कि हैवानियत की हदें पार करने वाला पाकिस्तान आज भारत को इंसानियत सिखाने चला है। सुषमा ने तंज कसते हुए कहा कि भारत ने आईआईटी, एम्स, आईआईएम बनाए, डॉक्टर, इंजीनियर और वैज्ञानिक बनाए। लेकिन पाकिस्तान ने आतंकवादी और जेहादी पैदा किए। डॉक्टर मरते हुए लोगों की जिंदगी बचाते हैं और आतंकी जिंदा लोगों को मौत के घाट उतारते हैं।

राहुल गांधी और रामचंद्र गुहा ने कसा तंज

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में सुषमा स्‍वराज के जोरदार भाषण की हर जगह तारीफ हो रही है। इस बीच कांग्रेस और मशहूर इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने विदेश मंत्री के भाषण पर तंज कसा है। कांग्रेस का कहना है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र के मंच से विदेश मंत्री ने भारत की जो उपलब्धियां गिनाईं, वह कांग्रेस सरकार की देन हैं।

खुद पार्टी काग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस सरकार की उपलब्धियां बताने के लिए ट्वीट कर सुषमा स्वराज को को धन्‍यवाद दिया है। राहुल गांधी ट्वीट कर लिखा है, ”सुषमा जी, आखिर में कांग्रेस सरकारों के महान विजन और IITs, IIMs की विरासत को स्‍वीकार करने के लिए धन्‍यवाद।”

वहीं, मशहूर इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने भी ट्वीट कर विदेश मंत्री के भाषण पर तंज कसा है। गुहा ने सुषमा स्वराज के भाषण पर तंज कसते हुए लिखा है कि सुषमा स्वराज ने आईआईटी और आईआईएम के लिए वेदों को श्रेय नहीं दिया। ट्विटर पर उन्होंने लिखा है, “मुझे खुशी है कि सुषमा स्वराज ने आईआईटी और आईआईएम के बारे में पूरी दुनिया को बताया; और बहुत राहत मिली कि उसके लिए उन्होंने वेदों को श्रेय नहीं दिया।”

सुषमा ने पाक को सुनाई खरी-खरी

सुषमा ने पाक के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी के भारत पर लगाए गए सभी आरोपों का सिलसिलेवार ढंग से जवाब दिया, लेकिन आतंकवाद पर उनकी सबसे ज्यादा बखिया उधेड़ी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि, ‘‘आज मैं पाकिस्तान के नेताओं से कहना चाहूंगी कि क्या आपने कभी सोचा है कि भारत और पाकिस्तान एक साथ आजाद हुए लेकिन आज भारत की पहचान दुनिया में आईटी की महाशक्ति के रूप में क्यों हैं और पाकिस्तान की पहचान आतंकवाद का निर्यात करने वाले देश और एक आतंकवादी देश की क्यों है?’’

संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक को लगातार दूसरे साल हिंदी में संबोधित करते हुए सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद का निर्यात किए जाने के बावजूद भारत ने प्रगति की। उन्होंने कहा कि भारत की आजादी के बाद पिछले 70 वर्षों में कई पार्टियों की सरकारें रही हैं और हमने लोकतंत्र को बनाए रखा और प्रगति की। हर सरकार ने भारत के विकास के लिए अपना योगदान दिया।

विदेश मंत्री ने कहा कि हमने वैज्ञानिक और तकनीकी संस्थान स्थापित किए जिन पर दुनिया को गर्व है, लेकिन पाकिस्तान ने दुनिया और अपने लोगों को आतंकवाद के अलावा क्या दिया? उन्होंने कहा कि हमने वैज्ञानिक, विद्वान, डॉक्टर, इंजीनियर पैदा किए और आपने क्या पैदा किया? आपने आतंकवादियों को पैदा किया…आपने आतंकी शिविर बनाए हैं, आपने लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिज्बुल मुजाहिदीन और हक्कानी नेटवर्क पैदा किया है।

सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान ने जो पैसा आतंकवाद पर खर्च किया, अगर अपने विकास पर खर्च करता तो आज दुनिया अधिक सुरक्षित और बेहतर होती। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान द्वारा बनाए गए आतंकवादी समूह सिर्फ भारत को नुकसान नहीं पहुंचा रहे, बल्कि अफगानिस्तान और बांग्लादेश को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here