भाजपा नेताओं को विभिन्न राम मंदिरों में से असली राम मंदिर की पहचान करनी चाहिए: आजम खान

0

समाजवादी पार्टी के नेता मोहम्मद आजम खान ने आरोप लगाया है कि भाजपा भगवान राम और राम मंदिर के मुद्दे का इस्तेमाल आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले राजनैतिक फायदा लेने के लिए कर रही है।

पीटीआई भाषा की खबर के अनुसार, उन्होंने कहा, ‘‘अयोध्या राम की जन्मस्थली है लेकिन भाजपा नेताओं और प्रवचनकर्ताओं को विभिन्न राम मंदिरों में से असली राम मंदिर की पहचान करनी चाहिए।’’

Also Read:  राजकीय सम्मान के साथ हुआ जयललिता का अंतिम संस्कार, नम आखों से समर्थकों और नेताओं ने दी विदाई

azam-khan-

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा उत्तर प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव के नतीजे को भलीभांति जानती है। इसलिए वह राजनैतिक फायदा लेने के लिए भगवान राम और राम मंदिर के मुद्दे का इस्तेमाल करने के लिए दुर्भावनापूर्ण अभियान चला रही है।’’ खान यहां कल शाम इलेक्ट्रॉनिक रिक्शा फैक्टरी का उद्घाटन करने से इतर मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे। वह राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री और स्थानीय विधायक हैं।

Also Read:  सैनिकों को कितना दुःख होगा ये जानकर कि भाजपा ऐसे लोगो को समर्थन दे रही है जो बुरहान वानी, अफजल गुरु को हीरो बनाते है

बहुजन समाज पार्टी के चिर प्रतिद्वंद्वी पर निशाना साधते हुए सपा नेता ने कहा, ‘‘या तो मायावती खुद बसपा से निकल जाएंगी या पार्टी कार्यकर्ता उन्हें बाहर का रास्ता दिखा देंगे क्योंकि पार्टी की महत्वपूर्ण हस्तियों ने बहनजी पर उनके गलत कार्यों के लिए दोषारोपण करना शुरू कर दिया है।’’ उन्होंने दावा किया कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 1952 के लोकसभा चुनाव में मौलाना अबुल कलाम आजाद की जीत सुनिश्चित करने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल शुरू किया था।

Also Read:  अमरनाथ आतंकी हमला: बॉलीवुड ने एक स्वर में की हमले की निंदा

खान ने आरोप लगाया कि जब आजाद ने निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया तो रामपुर का बहुत थोड़ा विकास हुआ।

उन्होंने पूर्ववर्ती रामपुर एस्टेट के नवाबों पर लोगों की मुश्किलों के लिए दोषारोपण किया और उनपर किसानों को निशाना बनाने का आरोप लगाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here