बलात्कारी राम रहीम ने CBI अदालत के फैसले के खिलाफ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का खटखटाया दरवाजा

0

15 साल पुराने केस में दो साध्‍वियों से बलात्‍कार के आरोप में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह ने CBI अदालत के फैसले के खिलाफ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

बता दें कि, सोमवार(28 अगस्त) को केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) की एक विशेष अदालत ने अपने आश्रम की दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को 10-10 साल की यानी 20 साल की सजा सुनाई थी।

जेल के साथ ही विशेष सीबीआई जज जगदीप लोहान ने राम रहीम पर दोनों मामलों में 15-15 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना न अदा करने पर राम रहीम को दो-दो साल की और सश्रम कैद भुगतनी होगी, इनमें से 14-14 लाख रुपये की राशि दोनों पीड़िताओं को दी जाएगी।

वहीं दूसरी और अभी हाल ही में हरियाणा पुलिस ने 43 वांटेड क्रिमिनल्स की सूची जारी की है। इनमें हनीप्रीत इंसा का नाम सबसे ऊपर है। पुलिस का कहना है कि इन लोगों पर आगजनी, तोड़फोड़ और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप है।

बता दें कि, 25 अगस्त को डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत रामरहीम को रेप के मामले में दोषी करार दिया गया था। जिसके बाद काफी हिंसा भड़क गई थी, जिसमें डेरा समर्थको की तरफ से की गई हिंसा में करीब 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here