बलात्‍कारी बाबा राम रहीम को 10 साल की जेल, जानें इस मामले में कब क्या हुआ?

0

केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक विशेष अदालत ने बलात्कार के एक मामले में दोषी ठहराये गये डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सोमवार(28 अगस्त) को 10 वर्ष की सजा सुनाई। डेरा प्रमुख को वर्ष 2002 के बलात्कार के मामले में यह सजा सुनायी गई।चंडीगढ के निकट पंचकूला में सीबीआई अदालत के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह ने रोहतक में सुनारिया जेल में बनाये गये विशेष अदालत कक्ष में 50 वर्षीय गुरमीत को यह सजा सुनायी। बता दें कि शुक्रवार(26 अगस्त) को इस मामले में दोषी ठहराये जाने के बाद से गुरमीत इसी जेल में बंद है।

न्यायाधीश को चंडीगढ़ से एक हेलीकॉप्टर से रोहतक लाया गया था और रोहतक के बाहरी इलाके में जेल के निकट बनाये गये एक हेलीपैड पर हेलीकाप्टर उतरा था। गत शुक्रवार को गुरमीत को दोषी ठहराये जाने के बाद हरियाणा में हुई हिंसा में 38 लोगों की मौत हुई है और कई अन्य घायल हुए है।

जानें, कब क्या हुआ?

  • अप्रैल 2002: एक साध्वी ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तत्कालिन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को शिकायत भेजी। साध्वी ने अपनी शिकायत में राम रहीम पर यौन शोषण का आरोप लगाया था।
  • मई 2002: पत्र की जांच का जिम्मा सिरसा के सेशन जज को सौंपा गया।
  • दिसंबर 2002: सीबीआई ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया।
  • 2005-2006: जांच अधिकारी सतीश डागर ने केस की जांच शुरू की और उस साध्वी ढूंढा जिसका यौन शोषण हुआ था।
  • जुलाई 2007: सीबीआई ने अंबाला कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। यहां से केस पंचकूला स्थानांतरित हो गया। डेरे में 1999 और 2001 में कुछ और साध्वियों का भी यौन शोषण हुआ। लेकिन वे मिल नहीं सकीं।
  • अगस्त 2008: सुनवाई शुरू हुई और डेरा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ आरोप तय किए गए।
  • 2011 से 2016 तक मामले की सुनवाई चली। डेरा प्रमुख की ओर से अपीलें दायर हुईं।
  • जुलाई 2016: केस के दौरान 52 गवाह पेश हुए। इनमें 15 वादी और 37 बचाव पक्ष के थे।
  • जून 2017: डेरा प्रमुख ने विदेश जाने के लिए अपील दायर की तो कोर्ट ने रोक लगा दी।
  • 25 जुलाई 2017: कोर्ट ने रोज सुनवाई करने के निर्देश दिए।
  • 25 अगस्त 2017: बाबा राम रहीम दोषी करार।
  • 28 अगस्त 2017: बाबा राम रहीम को सीबीआई कोर्ट ने 10 साल की सुनाई सजा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here