पश्चिम बंगाल दंगे में बेटे को खोने के बाद इमाम साहब ने जब अपनी खामोशी तोड़ी तो लोग रोने लगे

0
Follow us on Google News

पश्चिम बंगाल में रामनवमी पर जुलूस के दौरान भड़की हिंसा अभी तक थमने का नाम नहीं ले रही है। बीते रविवार (25 मार्च, 2018) को भड़की इस सांप्रदायिक हिंसा में अब तक चार लोगों की हत्या हो चुकी है। चौथे मृतक शख्स की पहचान एक 16 वर्षीय किशोर के रूप में की गई है। बेटे की हत्या के बाद हिंसाग्रस्त आसनसोल की एक मस्जिद के इमाम मौलाना इम्दादुल रशीदी ने गुरुवार (29 मार्च) को जब अपनी खामोशी तोड़ी तो वहां मौजूद लोग रोने लगे।

Photo: Indian Express

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इमाम साहब ने यहां एक समूह को संबोधित करते हुए लोगों से शांति की अपील की है। उन्होंने कहा कि बदले की बात की तो वो मस्जिद और शहर छोड़कर चले जाएंगे। उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते कि कोई और बाप अपना बेटा खोए। अपने बेटे को खोने वाले इमाम साहेब की यह भावुक अपील सुनकर वहां मौजूद लोगों के आंखों से आंसू निकल आए।

युवक की पीट-पीटकर हत्या

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, मृतक सिबतुल्ला रशीदी (16), जो इस साल बोर्ड की परीक्षा (10वीं) के समय दिखाई दिया, आसनसोल के रेल पार क्षेत्र में भड़की हिंसा के बाद से लापता था। अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है, दंगाइयों ने इमाम साहेब के बेटे को उठा लिया था। बाद में सिबतुल्ला का शव बुधवार देर रात को मिला, जिसकी पहचान गुरुवार को की गई। शक है कि युवक की पीट-पीटकर हत्या की गई थी।

48 वर्षीय मस्जिद के इमाम इम्दादुल रशीदी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि जब वह बाहर निकला तो वहां अराजकता थी। अराजक तत्वों ने उसे उठा लिया। रशीद ने आगे कहा कि, “मेरे बड़े बेटे ने पुलिस इसकी सूचना दी, लेकिन पुलिस स्टेशन में उसे प्रतीक्षा करने को कहा गया। बाद में सूचना दी गई कि पुलिस ने एक शव बरामद किया है, जिसकी शिनाख्त अगले दिन सुबह की गई।”

लोगों से की भावुक अपील

सिबतुल्ला को दफनाने के बाद क्षेत्र के ईदगाह मैदान में हजारों लोग इकट्ठा हुए थे, जहां इमाम रशीदी ने भीड़ से शांति बनाए रखने की भावुक अपील की। उन्होंने लोगों से कहा कि, “मैं शांति चाहता हूं। मेरा बेटा तो जा चुका है। मैं नहीं चाहता कि कोई परिवार अपने चहेते को खोए। मैं नहीं चाहता कि कोई और घर जले। मैं पहले ही कह चुका हूं कि बदला लिया गया तो आसनसोल छोड़ दूंगा। अगर मुझसे प्यार करते हैं तो एक उंगली भी नहीं उठाएंगे। इमाम साहेब की अपील सुनकर लोग भावुक हो गए।”

बता दें कि आसनसोल का संपर्क राज्‍य के अन्‍य हिस्‍सों से कटा हुआ है और इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से बंद कर दी गई हैं। वहीं इलाके में धारा 144 लगा दिया गया है। पूरा कस्‍बा वीरान सा हो गया है और दुकानें बंद हैं। हर तरफ पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवान नजर आ रहे हैं। राज्‍य में बच्‍चों का परीक्षा चल रहा है, इसको देखते हुए परीक्षा केंद्रों के बाहर पुलिस बल को तैनात किया गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here