उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव में पैसे बहाए जाने की आशंका, खरीदो- फ्रोख्त की बातें सामने आईं

0

उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 11 सीटों का चुनाव होना है और चुनाव के नज़दीक आते ही खरीदो-फरोख्त की आशंका काफी बढ़ गई है।

ऐसा इसलिए क्योंकि 11 सीटों के लिए कुल 12 उम्मीदवारों ने नामांकन किया है और अब तक किसी ने पर्चा वापस नहीं लिया है। कल नामांकन पत्र वापस लेने का अंतिम दिन है।

भाषा के अनुसार यही हाल प्रदेश की विधान परिषद सीटों पर होने वाले चुनाव का है। कुल 13 सीटों के लिए 14 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भरा है।

निर्वाचन अधिकारी एवं प्रमुख सचिव :विधानसभा: प्रदीप कुमार दुबे ने बताया कि राज्यसभा के लिए 12 और विधान परिषद के लिए 14 में से किसी भी उम्मीदवार ने आज नामांकन वापस नहीं लिया है। पर्चा वापस लेने की अंतिम तारीख कल है।

निर्दलीय प्रीति महापात्र के पर्चा दाखिल करने के बाद राज्यसभा के लिए मुकाबला दिलचस्प हो गया है। समाजसेवी प्रीति ने अंतिम मौके पर नामांकन पत्र दाखिल किया। अब कल यदि कोई पर्चा वापस नहीं लेता तो मतदान तय नजर आता है।

भाजपा के कई विधायकों और छोटे दलों के विधायकों के अलावा निर्दलीय विधायकों ने 37 वर्षीय प्रीति के नाम का प्रस्ताव किया। प्रीति नरेन्द्र मोदी विचार मंच की महिला प्रकोष्ठ की प्रमुख हैं और वह प्रधानमंत्री मोदी के साथ अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली हैं।

मुकाबले में प्रीति के उतरने से कांग्रेस प्रत्याशी कपिल सिब्बल की मुश्किलें बढ सकती हैं। सिब्बल को जीत के लिए पांच अतिरिक्त मतों की आवश्यकता होगी। विधानसभा में कांग्रेस के 29 विधायक हैं और राज्यसभा के हर उम्मीदवार को जीतने के लिए 34 मतों की आवश्यकता होगी।

LEAVE A REPLY