कश्मीरियत पर राजनाथ सिंह का जवाब सुन मेक माई ट्रिप की एडिटर ने डिलीट किया विवादित ट्वीट

0

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार(10 जुलाई) को पाक परस्त आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला कर दिया। इसमें सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई। जबकि 32 अन्य घायल हो गए हैं। मरने वालों में छह महिलाएं शामिल हैं। घायलों में से कई की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्हें अनंतनाग और श्रीनगर के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। 

अमरनाथ तीर्थयात्रियों हुए इस आतंकवादी हमले की पूरे देश ने एक स्वर में निंदा की है और इसे बेहद शमर्नाक तथा कायरतापूर्ण कृत्य करार दिया है। सोशल मीडिया पर भी इस आतंकी हमले को लेकर लोगों ने जोरदार तरीके से नाराजगी व्यक्त की है। हालांकि, सोशल मीडिया पर यूजर्स दो भागों में बंट गए हैं।

दरअसल, इसी गुस्से में सोशल मीडिया पर कई लोगों ने पूरे कश्मीर के लोगों पर ही सवाल उठा दिए। ऐसे लोगों को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जोरदार तरीके से जवाब दिया। राजनाथ सिंह ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हुए आतंकी हमले की कश्मीर के लोगों द्वारा खुलकर निंदा किए जाने की सराहना की है।

Also Read:  फौजियों ने ट्रेन में बरपाया कहर, महिलाओं से अभद्रता और यात्रियों से किया मारपीट

राजनाथ ने मंगलवार को कहा, “कश्मीर के प्रत्येक वर्ग ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों को निशाना बनाकर किए गए दुर्भाग्यपूर्ण कायर आतंकवादी हमले की निंदा की है। मैं राज्य के लोगों को सलाम करता हूं। उन्होंने आगे कहा ‘कश्मीर में किसी ने भी आतंकवादी हमले को सराहा नहीं। इससे पता चलता है कि कश्मीरियत अभी जिंदा है। इससे इस तरह के आतंकवादी तत्वों के खिलाफ लड़ने के हमारे हौसले को बल मिलता है।’

राजनाथ सिंह के इस ट्वीट की सोशल मीडिया पर जमकर सराहना हो रही है। हालांकि, ट्रैवलिंग वेबसाइट मेक माय ट्रिप की एडिटर शुचि सिंह कालरा को राजनाथ सिंह का यह प्यारा संदेश पसंद नहीं आए और उन्होंने एक विवादित ट्वीट कर दिया।

शुचि सिंह कालरा ने गृहमंत्री को निशाने पर लेते हुए ट्वीट कर कहा फिलहाल ‘कश्मीरियत’ की किसी को परवाह नहीं है और उनका (राजनाथ) काम ‘दिलासा’ देना नहीं है। कालरा ने राजनाथ को सलाह दी कि उन्हें यात्रियों को निशाना बनाने वाले आतंकियों को सजा दिलवाने पर फोकस करना चाहिए।

कालरा के विवादित ट्वीट पर खुद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मोर्चा संभालते हुए ऐसा जवाब दिया कि जिसे पढ़कर उन्होंने फौरन अपना ट्वीट डिलीट कर दिया। कालरा को दिए जवाब में राजनाथ ने ट्वीट किया, ‘निश्चित तौर पर मैं ऐसा करूंगा। निश्चित तौर पर देश के हर हिस्से में शांति एवं सौहार्द स्थापित करना मेरी जिम्मेदारी है। सभी कश्मीरी आतंकवादी नहीं हैं’।

राजनाथ सिंह द्वारा दिया गया यह जवाब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। बता दें कि अमरनाथ यात्रियों से भरी जिस बस पर आतंकियों ने हमला किया, उसके ड्राइवर सलीम शेख की बहादुरी के चर्चे हर जगह हैं। दरअसल, हमले के बाद सलीम ने दिलेरी और जांबाजी दिखाते हुए तब बस को चलाना जारी रखा, जब तक बस आतंकियों की पहुंच से दूर नहीं हो गई।

ड्राइवर सलीम शेख की बहादुरी की तारीफ करते हुए महबूबा सरकार ने मंगलवार को एलान किया सलीम को जम्मू-कश्मीर सरकार की तरफ से 3 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने ड्राइवर सलीम की सराहना की है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को सलीम को बहादुरी पुरस्कार के लिए नामित करने की भी बात भी कही।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here