कश्मीर घाटी में अब पैलेट गन की जगह मिर्ची बम का उपयोग करेंगे सुरक्षाबल- केंद्र सरकार का फैसला

0

सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के श्रीनगर पहुंचने से ठीक पहले एक बड़ा कदम उठाते हुए केंद्र सरकार ने भीड़ से निपटने के लिए मिर्ची बम को पैलेट गन के विकल्प के तौर पर मंजूरी दे दी। सूत्रों के मुताबिक गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पीएवीए यानी पेलार्गोनिक एसिड विनाइल अमाइड शेल्स के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।

Also Read:  "क्या किसी मीडिया वाले ने आज प्रेस कांफ्रेंस में अमित शाह से बंसल सुसाइड केस के बारे में पूछा, या सब सुसाइड करके गए थे?"

कई दफा भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बल पैलेट गन का इस्तेमाल करते हैं। इसके इस्तेमाल से हजारों घायल हो गए हैं और सैकड़ों लोगों को देखने में दिक्कत आने लगी है। जिसके बाद इस पैलेट गन का काफी विरोध हुआ।

एनडीटीवी की ख़बर के अनुसार,जल्द ही इस मिर्ची बम की पहली ख़ेप कश्मीर भेजी जाएगी। बताया जा रहा है कि इसके प्रभाव में आने वाला व्यक्ति अशक्त हो जाएगा जिससे उसकी हिंसक गतिविधि को रोकना और उसे हिरासत में लेना आसान हो जाएगा। हालांकि पैलेट गन के इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबंध नहीं लगाया गया है, विशेष परिस्थितियों में सुरक्षाबल अब भी इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।

Also Read:  उत्तर प्रदेश में महिला होमगार्ड ने कमांडेंट को जूते से पीटा

जुलाई में बुरहान वानी की मौत के बाद हुए हिंसक प्रदर्शनों के दौरान लोगों को काबू में लाने के लिए सुरक्षा बलों ने पैलेट गन का इस्तेमाल किया था जिससे बड़ी संख्या में लोगों के दृष्टिहीन हो गए थे। देशभर में इस घटना की काफी आलोचना हुई थी, जिसके बाद सरकार को पैलेट गन का विकल्प तलाशने की जरूरत पड़ी।

Also Read:  Address root cause of instability in Kashmir: Abdullah to Centre

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here