‘शर्म बची है कि नही?’, कोरोना लॉकडाउन को PM मोदी की चतुराई बता बुरी तरह ट्रोल हुए पत्रकार रजत शर्मा

0

वरिष्ठ पत्रकार और समाचार चैनल इंडिया टीवी के चेयरमैन व एडिटर इन चीफ रजत शर्मा अपने एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए है, लोग उन्हें ट्रोल करते हुए जमकर खरी-खोटी सुना रहे है। दरअसल, वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 दिन वाले लॉकडाउन वाले फैसले पर उनकी तारीफ करते हुए एक ट्वीट किया, जिसके बाद वह ट्विटर पर ट्रोल हो गए।

रजत शर्मा
फाइल फोटो

गौरतलब है कि, भारत में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की रात देश को संबोधित करते हुए ऐलान किया था कि ‘आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होगा, उन्होंने कहा कि ये लॉकडाउन कर्फ्यू की तरह ही होगा।’ पीएम मोदी बार-बार देश की जनता से अपील कर रहे है कि जब तक कोई बहुत जरुरी काम ना हो तब तक वो घर से ना निकले। बाहर निकल रहे लोगों पर राज्यों की पुलिस सख्ती भी दिखा रही है, लेकिन लोग इसके बाद भी लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर नजर आ रहे हैं।

इस बीच, समाचार चैनल इंडिया टीवी के चेयरमैन व एडिटर इन चीफ रजत शर्मा ने बुधवार (26 मार्च) को एक ट्वीट किया। रजत शर्मा ने पीएम मोदी के देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन के फैसले की तारीफ करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने ऐसे समय पर लॉकडाउन किया है जब कई दिन आधिकारिक छुट्टी है ऐसे में काम का नुकसान कम होगा। पीएम मोदी ने लॉकडाउन का फैसला चतुराई से लिया है।

अपने ट्वीट में रजत शर्मा ने लिखा, “ज़रा मोदी जी की चतुराई देखिये। घर में रहने के 21 दिन में से 6 तो शनिवार-रविवार हैं। 5 छुट्टियाँ गुडी पड़वा, राम नवमी, महावीर जयंती, गुड फ़्राइडे और अम्बेडकर जयंती की हैं। काम का नुक़सान सिर्फ़ 10 दिन। आम के आम, गुठलियों के दाम।” अपने इस ट्वीट को लेकर रजत शर्मा सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए, लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे है।

रजत शर्मा के ट्वीट को शेयर करते हुए पत्रकार उमाशंकर सिंह ने लिखा, “रजत जी बहुत ही बड़े पत्रकार हैं। वे हमेशा दूर से और संकेतों में घेरते हैं। इस ट्वीट के ज़रिए जो बड़ी बात वे कहना चाह रहे हैं वे ये कि मोदी जी कोरोना वायरस के ख़तरों से लड़ने के लिए एक साथ कई छुट्टियाँ पड़ने के इंतज़ार में थे। इसे कहते हैं ‘तू डाल डाल हम पात पात’ पत्रकारिता!”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “शर्म बची है कि नही?? देश बिमारी के गर्त में जा रहा है और आपको कॉमेडी सूझ रही है?” एक अन्य यूजर ने लिखा, “दलाल से क्या उम्मीद की जा सकती है.. किसकी वाह वाही करनी हो तो.. कैसे भी कर लेते है.. पता नहीं कितने मे बिके होंगे ये दलाल जो इतने तलवे चाटते है..।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “आपका ट्वीट मोदी जी की प्रतिष्ठा का नुक़सान कर रहा है। अगर ये अंग्रेज़ी में होता तो भारी जग हँसाई होती। प्रधानमंत्री निश्चित ही समझते होंगे कि महामारी से निपटने का प्लान कैलेंडर का इंतज़ार नहीं करता।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “और आपने इनमें से कितनी छुट्टियां अपने चैनल में काम करने वालों को दी हैं, ज़रा दम हो तो ये भी बताते जाइये।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “गरीब आदमी के ज़ख़्मों पर नमक मत छिड़किए रजत शर्मा जी।” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स रजत शर्मा के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे है।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट

बता दें कि, देश में कोरोना वायरल से संक्रमित लोगों की संख्या 650 से अधिक हो गई है और मरने वालों की संख्या 13 है। वहीं, गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत लॉकडाउन से प्रभावित गरीब तबके के लोगों की मदद करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here