रजत शर्मा बोले- “मोदी को एक मौका दें, एक साल के लिए नए कृषि कानूनों को लागू होने दें”; यूजर्स ने इंडिया टीवी के एंकर को ट्रोल करते हुए कहा- ‘अब खुलेआम ही BJP के प्रवक्ता बन गए हो’

0

समाचार चैनल इंडिया टीवी के चेयरमैन व एडिटर इन चीफ रजत शर्मा अपने एक ट्वीट को लेकर एक बार फिर से सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं, लोग उन्हें ट्रोल करते हुए जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। दरअसल, रजत शर्मा ने कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक और मौका देने की बात कही है। रजत शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार की तरफ से लागए गए कृषि कानूनों को एक साल तक लागू होने दीजिए। रजत शर्मा के इस पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया पर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

रजत शर्मा

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा की पोस्ट पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने लिखा, “अभी तक गोदी मीडिया सुना था पर दलाल मीडिया देख भी लिया। 2014 से लेकर आज तक मोदी ही हैं, फिर ये एक मौका क्या हैं? नोटबंदी से क्या मिला? कश्मीर से धारा हटा के क्या मिला? श्री राम मंदिर से क्या मिला? ताली और थाली पिट के क्या मिला? चीन में झूला, झूल के क्या मिला? & और अब भी एक मौका?”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “पहले मोदीजी ने जो नोट बंदी मे कहा था 50 दिन मोका माँगा था ओ वादा बाकी है, जनता को कृपया एक मोका मोदीजी से दिला दो साहब तब से किसी चौराहे पर नहीं मिले. जनता मोदीजी का इन्तेज़ार कर रही है।” एक अन्य ने लिखा, “काला धन लाने के लिए 100 दिन दिए, नोटबन्दी के लिए 50 दिन दिए, और अच्छे दिन लाने के लिए 6 वर्ष दिए क्या यह सब हो गया?”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “नोटबंदी में क्या मौका नहीं मिला था। क्या हुआ ? इसमें मौका देकर किसान क्या अपनी जिंदगी दाव पर लगा दे। मोदी जी को सलाह क्यों नहीं देते की वह किसानों के हित में कानून वापस ले। अगर वापस लेने से नुकसान होगा तो किसान का होगा। इससे सरकार को क्या लाभ है जो जिद पर अड़ी है।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “चाटते तो बहुत पत्तलकार हैं। लेकिन आपकी जैसी चाटने की कला किसी मे नहीं, शर्मा जी लगता है पुरे जीवन का सौदा कर लिए हो।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “वाह शर्मा जी वाह! जमीर जिंदा नही है ये तो पता है आपका मगर अब खुलेआम ही भाजपा के प्रवक्ता बन गए हो।” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स रजत शर्मा के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here