अनुपम खैर, रजत शर्मा फिर से राज्यसभा की रेस में, प्रणव पांड्या ने ठुकराया मोदी का आॅफर

0

पीएम मोदी ने अपनी निजी पसन्द बतौर प्रणव पांड्या को राज्यसभा के लिये चयनित किया था, लेकिन अब पांड्या की तरफ से मोदी सरकार की इस मेहरबानी को नजरअंदाज कर दिया गया है। इसके बाद फिर से राज्यसभा की रेस में अनुपम खैर, रजत शर्मा और सलीम खान शामिल होने की सम्भावना बढ़ गई हैं।
war

Congress advt 2

गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पांड्या ने राज्‍यसभा सांसद बनने से इनकार कर दिया है। उनके मनोनयन की घोषणा 4 मई को की गई थी। लेकिन 6 मई को उन्‍होंने कहा कि यह पद उनकी हैसियत के हिसाब से छोटा है। मोदी सरकार ने उन्‍हें राज्‍यसभा के लिए मनोनीत किया था। पांड्या का इनकार जहां नरेंद्र मोदी सरकार के लिए झटका है, वहीं इस बात की अटकलें एक बार फिर जोर पकड़ सकती है कि क्‍या अब अभिनेता अनुपम खेर, पत्रकार रजत शर्मा और फिल्‍म राइटर सलीम खान में से किसी एक का नाम आ सकता है?

Also Read:  'बिहार में शराब पर पाबंदी सहभागिता भरा हो, राजनीतिक एजेंडा नहीं'

पीएम मोदी ने राज्यसभा की सातों सीटों के लिये बेहद सोचसमझकर चुनाव किया था, क्योंकि इससे उनके वोट बैंक में बढ़ोत्तरी होने की सम्भावना अधिक थी। यदी गायत्री परिवार के प्रणव पांड्या इस पद को स्वीकार कर लेते तो मोदी को फ्री में ही लाखों भक्तों की टोली वोट बैंक के रूप में मिल जाती। इससे पहले भी बाबा रामदेव और अन्य धार्मिक बाबाओं पर मोदी जी की छत्रछाया हैं। अब ये देखना बेहद रोचक होगा कि प्रणव पांड्या के बाद मोदी भीड़ जुटाने वाले किस शख्स को राज्यसभा की सीट का तोहफा देगें।

Also Read:  पर्रिकर ने क्यों कहा, 'स्ट्राइक' जैसे शब्द का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here