राजस्थान में एक और दलित युवक की पीट-पीट कर हत्या

0

राजस्थान के अलवर और भरतपुर जिले में चौबीस घंटों के दौरान दो अलग अलग घटनाओं में दो दलित युवकों की कथित तौर पर हत्या कर दी गई।

राजस्थान
प्रतीकात्मक फोटो

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, भरतपुर जिले के कुम्हेर थानाधिकारी सीताराम मीणा के अनुसार, पुरानी रंजिश को लेकर हुए विवाद में अज्ञात लोगों ने जयवंत जाटव(26) की लाठियों और धारदार हथियारों से वार कर हत्या कर दी। अपराधी मौके से भाग गए जिनकी तलाश की जा रही है, पुलिस ने तीन चार लोगों को चिन्हित किया है।

बता दें कि, एक अन्य घटना में अलवर जिले के भिवाडी थाना इलाके में शुक्रवार (दो मार्च) को होली को लेकर हुए विवाद में हमलावरों से बडे़ भाई को बचाने आए नीरज जाटव(16) की हमलावरों ने लाठियों से वार कर हत्या कर दी थी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोनों शवों का आज पोस्टमार्टम करवाया जाएगा, मामले की जांच की जा रही है।

दैनिक भास्कर की ख़बर के मुताबिक, कुम्हेर थाना क्षेत्र के गांव संता का नगला में जसवंत सिंह(22) पुत्र मांगीलाल जाटव काम से रात को घर लौटा। उसकी झोंपड़ी गांव के बाहर खेतों में है। होली के मौके पर गांव में संगीत का कार्यक्रम था, वहां डीजे बज रहा था। वह घरवालों को बताकर डीजे में चला गया। रास्ते में कुछ लोगों ने उसे पकड़ लिया और बुरी तरह मारा।

हमलावरों के कुछ साथी जसवंत के खेत पर पहुंचे और उसकी झोपड़ी में आग लगा दी। आग लगाते ही घर के लोग जग गए और चिल्लाए, इस पर आरोपी वहां से भाग गए। तब तक आग काफी फैल चुकी थी और देखते ही देखते झोपड़ी जल गई। शोर मचने पर गांव वाले वहां आ गए तथा पुलिस को बुला लिया।

पुलिस के वहां पहुंचने पर उन्होंने आरोपियों के बारे में बता दिया। इतने में घरवाले जसवंत को लेने गांव गए। संगीत कार्यक्रम में वह नहीं मिला तो पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। रात को एक बजे पुलिस को पता चला कि उसका शव भरतपुर के अस्‍पताल में रखा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, डाक्टर ने पुलिस को बताया कि रात को एक बजे कुछ लोग जसवंत को लेकर आए थे। मार-पीट से उसके शरीर में अंदरूनी चोट आई थी। अस्पताल लाए जाने से पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। वहीं, मृतक के बड़े भाई राजेश ने बताया कि कुछ दिन पहले गांव में एक युवक की बाइक चोरी हो गई थी। बाइक खेतों में ही मिल गई थी, लेकिन चोरी का आरोप जसवंत पर लगा था, तभी से उनकी जसवंत से दुश्मनी थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here