‘निशा जिंदल’ के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी चलाने वाले ‘रवि’ को रायपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार, करता था सांप्रदायिक टिप्पणी

0

छत्तीसगढ़ की रायपुर पुलिस ने रवि पुजार के रूप में पहचान रखने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जो ‘निशा जिंदल’ के नाम से एक फेसबुक पेज चला रहा था और इसके 10000 से अधिक फॉलोअर्स भी थे। सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में रवि को गिरफ्तार किया गया था। वह ‘निशा जिंदल’ के नाम से एक फर्जी फेसबुक पेज चला रहा था, जिसपर 10000 से ज्यादा फॉलोअर्स भी है। छत्तीसगढ़ में तैनात आईएएस अधिकारी प्रियंका शुक्ला ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

उस आदमी की फोटो को साझा करते हुए IAS अधिकारी प्रियंका शुक्ला ने ट्विटर पर लिखा, “साम्प्रदायिक वैमनस्यता भड़काने के आरोप में जब रायपुर पुलिस ने फेसबुक यूजर “निशा जिंदल” को गिरफ़्तार करने पहुंची तो पता चला कि 11 साल से इंजीनियरिंग पास नहीं कर पा रहे “रवि” ही वास्तव में “निशा” हैं! ? “निशा” के 10,000 से अधिक फॉलोअर्स को सच बताने पुलिस ने रवि से ही उनकी सच्चाई पोस्ट कराई!”

बाद में रवि को निशा जिंदल के फेसबुक पेज पर अपनी तस्वीर साझा करने के लिए मजबूर होना पड़ा। रवि की तस्वीर शेयर करते हुए फेसबुक पोस्ट में लिखा गया, “मैं पुलिस हिरासत में हूं, मैं ही निशा जिंदल हूं।”

जानकारी के मुताबिक, सांप्रदायिक टिप्पणी की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने ‘निशा जिंदल’ के नाम से बनी फेसबुक आईडी की छानबीन की। छानबीन के आधार पर पुलिस जब शुक्रवार को गिरफ्तारी के लिए पहुंची तो ‘निशा जिंदल’ की जगह पर रवि मिला। पूछताछ में रवि ने कुबूल किया कि वही इस अकाउंट को चलाता है। इसके बाद पुलिस ने युवक से ‘निशा जिंदल’ के अकाउंट पर उसकी असली फोटो पोस्ट कराई।

गिरफ्तार युवक पर आरोप है कि वह लड़कियों के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाता था और फिर उससे सांप्रदायिक टिप्पणी करता था। इसके बाद कुछ लोगों ने इस आईडी की शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस की साइबर सेल ने रवि को गिरफ्तार किया। आरोपी युवक के खिलाफ आईटी ऐक्ट और अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here