“राहुल गांधी ने अपना गोत्र बताया है तो उम्मीद की जानी चाहिए कि अब देश नई ऊंचाइयां छुएगा, क्योंकि उनके गोत्र न पता होने की वजह से ही कुछ नहीं हो पा रहा था”

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राजस्थान स्थित पुष्कर के सरोवर घाट पर पूजा करवाने वाले एक पुजारी ने सोमवार (26 नवंबर) को दावा किया कि राहुल गांधी की गोत्र दत्तात्रेय है और वह कश्मीर ब्राह्मण हैं। पुजारी दीनानाथ कौल ने पत्रकारों को बताया कि उनके पास इस परिवार का पूरा रिकॉर्ड पोथी में दर्ज है। इसमें इस परिवार की वंशावली है।

पुजारी के अनुसार राहुल गांधी के पूर्वजों ने ही मोती लाल नेहरू, जवाहर लाल नेहरू व इस परिवार के अन्य सदस्यों को यहां पूजा करवाई थी। पुजारी ने कहा, ‘‘इनकी गोत्र दत्तात्रेय हैं और वह कश्मीरी ब्राह्मण हैं। मोती लाल नेहरू, जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, संजय गांधी, मेनका गांधी व सोनिया गांधी ने घाट पर आकर पूजा की इसका रिकॉर्ड (पोथी) हमारे पास है।’’

पुजारी के अनुसार उन्होंने पूजा करने आए राहुल गांधी से उनका नाम व गोत्र पूछा तो ‘‘उन्होंने दत्तात्रेय गोत्र बताया। दत्तात्रेय कौल होते हैं जो कश्मीरी ब्राह्मण होते हैं।’’ पुजारी ने वह दस्तावेज भी दिखाए जिनमें पुष्कर सरोवर में पूजा करने वाले राहुल के पूर्वजों के नाम दर्ज थे। चुनावी यात्रा पर राजस्थान आए कांग्रेस अध्यक्ष ने इससे पहले सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर प्रार्थना की।

लोगों ने मीडिया पर साधा निशाना

राहुल गांधी के गोत्र का खुलासा होते ही हिंदी समाचार चैनलों पर ब्रेकिंग चलने लगा। इतना ही देश में सभी आम आदमी के मुद्दों को दरकिनार कर चैनल वाले राहुल गांधी के गोत्र पर ही डिबेट करना शुरू कर दिए। चैनलों का यह अंदाज सोशल मीडिया पर लोगों को रास नहीं आया। लोगों ने ट्वीट कर मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा कि चैनल वाले ऐसे ब्रेकिंग चला रहे हैं जैसे यह देश की सबसे बड़ी खबर है।

देखिए, लोगों की प्रतिक्रियाएं:- 

पत्रकार सुशांत सिन्हा ने लिखा, “अब जबकि BJP के निरन्तर प्रयासों के बाद राहुल गांधी ने अपना गोत्र बताया है तो उम्मीद की जानी चाहिए कि अब पेट्रोल 50 रुपये /लीटर हो जाएगा, रुपया मज़बूत होगा, रेप रुक जाएंगे, कुपोषण से बच्चे नहीं मरेंगे, देश नई ऊंचाइयां छुएगा, क्योंकि ये सब राहुल गांधी का गोत्र न पता होने की वजह से ही तो नहीं हो रहे थे”

वहीं, अखिल भारतीय राष्ट्रीय संत समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णम ने ट्वीट कर लिखा है, “राहुल गांधी का “गोत्र” पूछने वालों, इंदिरा गांधी के “लहू” का गोत्र क्या था,और राजीव गांधी के जिस्म के “टुकड़ों” का गोत्र क्या था, जो इस “देश” की “मिट्टी” में मिल गये”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here