कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी और GST को बताया ‘बम’

0

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार(30 अक्टूबर) को दिल्‍ली स्थित पार्टी मुख्यालय में पार्टी महासचिवों और राज्यों के प्रभारियों के साथ अहम बैठक की। बैठक खत्म होने के बाद उन्होंने नोटबंदी और GST को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

राहुल गांधी
file photo -Getty Images

उन्होंने कहा कि, नोटबंदी के दिन 8 नवंबर को किस बात का जश्न होगा? मुझे समझ में नहीं आता। राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी को देश की अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा झटका बताते हुए इसकी तुलना बम और टॉर्पीडो से की।

साथ ही उन्होंने कहा कि, मोदी सरकार की दो बड़ी आर्थिक नीतियों नोटबंदी और जीएसटी से लोगों को अपार दुख हुआ है।आइडिया को कैसे भ्रष्ट किया जा सकता है, जीएसटी इसका उदाहरण है।

आगे उन्होंने कहा कि जीएसटी अच्छी योजना है, लेकिन केंद्र सरकार ने इसे नष्ट कर दिया। सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को दो तगड़े झटके दिए, जिसमें नोटबंदी और जीएसटी बिल शामिल हैं।

साथ ही राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी और जीएसटी के दो बम मारे हैं।’ इसके बाद राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी को टॉर्पीडो बताते हुए कहा, ‘एक टॉर्पीडो ने अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका दिया, तो दूसरे ने उसे डुबो ही दिया। पहला टॉर्पीडो नोटबंदी का था, तो दूसरा ठीक तरीके से लागू नहीं की गई जीएसटी का।

बता दें कि, जीएसटी और नोटबंदी को लेकर राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं। इससे पहले राहुल गांधी जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स भी कह चुके हैं।

आपको बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा की थी। नोटबंदी का एलान होते ही 500 और 1000 रुपये के नोट को चलन से बाहर कर दिया गया था। नोटबंदी के कदम के समर्थन में सरकार ने कहा था कि इससे कालेधन, भ्रष्टाचार और नकली मुद्रा पर लगाम लगेगी।

सरकार के इस फैसले के एक साल पूरे होने पर विपक्षी दल 8 नवंबर को काला दिवस के रुप में मनायेंगे और देश भर में विरोध-प्रदर्शन करेंगे। विपक्ष का दावा है कि नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था एवं नौकरियों को नुकसान पहुंचा है। वहीं दूसरी ओर सत्तारूढ़ बीजेपी ने इस दिन कालाधन विरोधी दिवस (रिपीट कालाधन विरोधी दिवस) मनाने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here