स्मृति ईरानी से हारने के बाद पहली बार अमेठी पहुंचे राहुल गांधी, पार्टी कार्यकर्ताओं से की मुलाकात

0

कांग्रेस नेता राहुल गांधी बुधवार (10 जुलाई) को अपने पूर्व संसदीय क्षेत्र अमेठी के एक दिन के दौरे पर पहुंचे। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से अमेठी में लोकसभा चुनाव में पराजय मिलने के बाद पहली बार अमेठी दौरे पर यहां पहुंचे राहुल सबसे पहले गौरीगंज गए, जहां वह तिलोई विधानसभा इकाई के प्रभारी माता प्रसाद वैश्य के मामा एवं गौरीगंज के वयोवृद्ध समाजसेवी गंगा प्रसाद गुप्त के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। गुप्त का 25 जून को निधन हो गया था। बता दें कि राहुल अभी केरल के वायनाड से सांसद हैं।

राहुल गांधी

राहुल ने इसके बाद गौरीगंज स्थित ‘निर्मला इंस्टीट्यूट ऑफ वीमेंस एजुकेशन एंड टेक्नोलॉजी’ में पार्टी के स्थानीय नेताओं, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ समीक्षा बैठक शुरू की। मालूम हो कि राहुल ने हाल में हुए लोकसभा चुनाव में अमेठी के साथ-साथ केरल की वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ा था, जहां से वह सांसद चुने गये हैं। मगर, पीढ़ियों से गांधी-नेहरू परिवार के गढ़ रहे अमेठी में उन्हें भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने 55 हजार से अधिक मतों से शिकस्त दी।

इस दौरान राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस बैठक में शामिल कार्यकर्ताओं के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा कि वह अमेठी नहीं छोड़ेंगे। वह लगातार यहां आते रहेंगे। इसके साथ ही प्रियंका गांधी वाड्रा भी यहां आएंगी। कार्यकर्ताओं से कहा कि वह हार से निराशा न हो। क्षेत्र में जाकर पार्टी को मजबूत करें। राहुल ने चुनाव में पार्टी की पराजय की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

राहुल गांधी कुछ तस्वीरों के साथ ट्वीट कर लिखा, ‘अमेठी आकर बहुत खुश हूँ। अमेठी आना घर आने जैसा लगता है।’

अपने इस दौरे के दौरान राहुल अमेठी संसदीय क्षेत्र के सभी पांचों विधानसभा क्षेत्र सलोन, अमेठी, गौरीगंज, जगदीशपुर और तिलोई के कांग्रेस प्रभारियों तथा पार्टी की न्याय पंचायत, ब्लॉक तथा बूथ स्तरीय इकाइयों के अध्यक्षों सहित हर ब्लॉक से 15-15 वरिष्ठ कांग्रेस के नेताओं के साथ बैठक कर लोकसभा चुनाव में अमेठी से अपनी हार के कारणों का पता लगाने की कोशिश करेंगे। अपने दौरे के दौरान वह कुछ गांवों का दौरा भी करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here