INX मीडिया केस: पी. चिदंबरम के खिलाफ ED ने जारी किया लुकआउट नोटिस, पूर्व केंद्रीय मंत्री का बचाव करते हुए मोदी सरकार पर बरसे राहुल और प्रियंका गांधी

0

आईएनएक्स मीडिया केस में फंसे कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी उनके समर्थन खुलकर खड़ी हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के बाद अब पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने चिदंबरम का समर्थन करते हुए मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। राहुल ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ईडी, सीबीआई और कुछ मीडिया समूहों के जरिए चिदंबरम का चरित्र हनन कर रही है।

पी. चिदंबरम

पी चिदबंरम पर सीबीआई और ईडी के इस ऐक्शन से खफा कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। राहुल ने ट्विटर पर मोदी सरकार के खिलाफ तीखी टिप्पणियां कीं। राहुल गांधी ने पी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई और ईडी की कार्रवाई को निंदनीय बताया है। राहुल ने ट्वीट कर लिखा, “मोदी सरकार ईडी, सीबीआई और मीडिया के एक समूह का इस्तेमाल कर पी चिदंबरम के चरित्र हनन के लिए कर रही है। मैं सत्ता के इस दुरुपयोग की निंदा करता हूं।”

बता दें कि, इससे पहले प्रियंका गांधी ने कहा कि पार्टी चिदंबरम के साथ हर वक्त खड़ी है और नतीजों की परवाह किए वह बिना सचाई के साथ खड़ी रहेगी। प्रियंका गांधी ने बुधवार सुबह ट्वीट कर लिखा, “बहुत ही योग्य और सम्मानित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम जी ने दशकों तक बतौर वित्त मंत्री, गृह मंत्री और दूसरे पदों पर रहते हुए पूरी वफादारी से देश की सेवा की है।”

उन्होंने दावा किया, “वह बेहिचक सच बोलते हैं और इस सरकार की नाकामियों का खुलासा करते हैं। लेकिन सच कायरों के लिए सुविधाजनक नहीं होता इसलिए शर्मनाक तरीके से उनका पीछा किया जा रहा है।” प्रियंका ने कहा, “हम उनके साथ खड़े हैं और सच के लिए लड़ते रहेंगे, चाहे नतीजा कुछ भी हो।”

बता दें कि, दिल्ली हाई कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया केस में फंसे चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका मंगलवार को खारिज कर दी थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में विशेष राहत के लिए याचिका दायर कर दी। लेकिन उसने तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की वह अपील तत्काल सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए प्रधान न्यायाधीश के समक्ष रखी जाएगी जिसमें उन्होंने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से पूर्व जमानत के लिए दी गई अपनी याचिका खारिज करने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी है। न्यायमूर्ति एन वी रमण ने चिदंबरम की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल से कहा कि मामला प्रधान न्यायाधीश के समक्ष रखा जाएगा। चीफ जस्टिस मामले को देखेंगे।

चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज करने के बाद से केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशलय की टीमें चिदंबरम के जोर बाग स्थित आवास पर बार-बार चक्कर काट रही हैं। इसके अलावा प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को कांग्रेस के दिग्गज नेता पी चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here