डोकलाम में चीन ने फिर शुरू किया सड़क बनाने का काम, तैनात किए 1000 सैनिक, राहुल गांधी ने PM मोदी पर बोला हमला

0

पिछले दिनों भारतीय सेना के दखल के बाद डोकलाम इलाके में सड़क बनाने में नाकाम रही चीनी सेना ने पहले से ही मौजूद सड़क पर अब नए सिरे से काम शुरू किया है, जो उस जगह से थोड़ी ही दूरी पर है जहां दोनो देशों की सेनाएं आमने सामने थी। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, इस क्षेत्र में तनाव घटाने के लिए सैनिकों को वापस बुलाना शुरू हो गया था, लेकिन अभी भी विवादित क्षेत्र से 800 मीटर दूर एक चाइनीज बटालियन मौजूद है।अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक सिक्किम सीमा पर हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, डोकलाम के निकट करीब 1,000 चीनी सैनिकों ने डेरा जमा लिया है। यह डेरा बॉर्डर से कुछ ही मीटर की दूरी पर है। सूत्रों ने अखबार को बताया कि चीन अपने सैनिकों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ा रहा है, जिससे स्थिति और बिगड़ सकती है।

भारत सरकार के सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि चीन द्वारा इस इलाके में किसी और गतिरोध की शुरुआत की आशंका कम है। बता दें कि जून में डोकलाम क्षेत्र में दोनों देशों के बीच शुरू हुआ गतिरोध 28 अगस्त को समाप्त होने के बाद दोनों देशों ने विवादित स्थल से अपने-अपने सैनिक हटाने शुरू किए।

लेकिन सूत्रों के अनुसार चीन ने अपनी एक बटालियन अभी डोकलाम क्षेत्र में ही तैनात रखी है। चीन की बटालियन विवादित स्थल से करीब 800 मीटर पीछे तैनात है। एक सूत्र ने बताया कि पीपल्स लिबरेशन आर्मी जो बुलडोजर और निर्माण सामग्री डोकलाम में विवादित स्थान पर लाई थी, उससे अब उस सड़क को चौड़ा और मजबूत किया जा रहा है, जिसे कई साल पहले बनाया गया था।

राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज

डोकलाम विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने शुक्रवार(6 अक्टूबर) ‘‘500 सैनिकों की निगरानी में, चीन ने डोकलाम में सड़क चौड़ी की’’ शीर्षक वाली खबर को टैग करते हुये ट्वीट किया, ‘‘मोदीजी, एक बार जब आप अपनी पीठ थपथपा चुके हों तो कृपया इस बारे में जानकारी देंगे?’’

वहीं, एक और ट्वीट में राहुल गांधी ने ‘‘खत्म नहीं हुआ तनाव, डोकलाम पर फिर से बड़ी फौज तैनात कर रहा है चीन’’ शीर्षक वाली एक खबर को टैग करते कहा कि, ‘मोदीजी, जब आप छाती ठोकना बंद कर दें, तो क्या कृपया इसे समझाने का कष्ट करेंगे?’

28 अगस्त को समाप्त हुआ था विवाद

गौरतलब है कि इसी साल 16 जून को चीनी सैनिकों के डोकलाम में भूटान की सीमा पर अतिक्रमण का भारतीय सैनिकों ने जोरदार विरोध किया था। इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प भी हुई थी और दोनों ने बड़ी संख्या में इस इलाके में अपने सैनिक तैनात कर दिए थे। हालांकि 73 दिन बाद यह तनातनी 28 अगस्त को समाप्त हो गई थी। इस दौरान दोनों देशों की ओर से कहा गया था कि वह इलाके में शांति और स्थिरता के लिए बातचीत करेंगे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here