राहुल गांधी ने पीएम मोदी से कहा, CRPF के 40 शहीदों के परिजनों को बताएं कि मसूद अजहर को किसने रिहा किया?

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार (10 मार्च) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि वे पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 40 जवानों के परिवारों को बताए कि मसूद अजहर को किसने रिहा किया जिसके जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी ली है।

राहुल गांधी
file photo- @INCIndia

राहुल गांधी ने ट्वीट करके आरोप लगाया कि वह वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ही थे जो ‘हत्यारे’ अजहर को सौंपने के लिए कंधार गए थे। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ‘प्रधानमंत्री मोदी कृपया हमारे 40 सीआरपीएफ शहीदों के परिवारों को बतायें कि हत्यारे मसूद अजहर को किसने रिहा किया? उन्हें यह भी बताए कि आपके वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ही यह समझौता करने वाले थे जो हत्यारे को पाकिस्तान को सौंपने के लिए कंधार गए थे।’

राहुल गांधी ने अपने इस ट्वीट के साथ दो तस्वीर भी शेयर की है। तस्वीर में मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी दिखाई दे रहे हैं। डोभाल के पास ही आतंकी मसूद अजहर भी दिख रहा है।

मसूद अजहर और कुछ अन्य आतंकवादियों को भारत सरकार ने दिसम्बर 1999 में इंडियन एयरलाइंस की उड़ान संख्या आईसी..814 के 150 से अधिक बंधकों के बदले रिहा किया था। उस उक्त उड़ान को अपहृत करके कंधार ले जाया गया था।

बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। पुलवामा आंतकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

बता दें कि इससे पहले शनिवार को कर्नाटक में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि, मोदी मुझे समझाएं कि किसने मसूद अजहर को भारतीय जेल से पाकिस्तान भेजा। राहुल गांधी ने कहा, मोदी के लिए मेरा एक छोटा सा सवाल है। सीआरपीएफ जवानों को किसने मारा? जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख का नाम क्या है? उसका नाम मसूद अजहर है। उन्होंने कहा कि 1999 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार थी जिसने उसे भारतीय जेल से अफगानिस्तान के कांधार के रास्ते पाकिस्तान भेजा था।

उन्होंने कहा, आप इसके बारे में क्यों नहीं बोल रहे। आप क्यों नहीं कह रहे कि जिस व्यक्ति ने सीआरपीएफ जवानों को मारा उसे बीजेपी ने पाकिस्तान भेजा था… मोदी जी हम आपकी तरह नहीं हैं। हम आतंक के सामने नहीं झुकते हैं। भारत के लोगों के सामने स्पष्ट कीजिए कि किसने मसूद अजहर को भेजा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here