“भारत का गरीब भूखा है क्योंकि सरकार सिर्फ अपने कुछ खास ‘मित्रों’ की जेबें भरने में लगी है”: भुखमरी सूचकांक में भारत की ‘गंभीर’ स्थिति पर बिफरे राहुल गांधी

0

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला जारी रखते हुए शनिवार को ‘वैश्विक भूख सूचकांक’ 2020 को लेकर निशाना साधा और कहा कि भारत का गरीब भूखा है क्योंकि सरकार सिर्फ अपने कुछ खास ‘मित्रों’ की जेबें भरने में लगी है।

शुक्रवार को जारी वैश्विक भूख सूचकांक 2020 के 117 देशों में भारत का 94वां स्थान है जबकि इंडोनेशिया, पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश इसकी तुलना में कहीं बेहतर पायदान पर हैं। राहुल गांधी ने इसी वैश्विक सूचकांक के सहारे सरकार पर अपने कुछ खास ‘मित्रों’ की जेब भरने का आरोप लगाया है।

वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने शनिवार को इस संबंध में प्रकाशित एक ग्राफ को अपने ट्विटर पर साझा किया और केंद्र सरकार पर हमला करते हुए लिखा, “भारत का गरीब भूखा है क्योंकि सरकार सिर्फ अपने कुछ खास ‘मित्रों’ की जेबें भरने में लगी है।” सूचकांक के अनुसार इंडोनेशिया 70, नेपाल 73, बांग्लादेश 75 और पाकिस्तान 88वें पायदान पर है।

बता दें कि, इससे पहले राहुल गांधी ने कल कोरोना से अर्थव्यवस्था को लगे झटकों को लेकर केंद्र पर हमला बोला था। उन्होंने एक ग्राफिक्स साझा करते हुए मोदी सरकार पर तंज कसा, “भाजपा सरकार की एक और ठोस उपलब्धि, पाकिस्तान और अफगानिस्तान ने भी भारत से बेहतर ढंग से कोविड का प्रबंध किया है।”

वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने दो दिन पहले ट्वीट करके कहा था कि प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आधार पर बांग्लादेश जल्द ही भारत को पछाड़ देगा। इसमें उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के आंकड़ों का हवाला दिया था। सरकार के सूत्रों ने इस पर जवाब देते हुए राहुल गांधी के दावों को गलत बताया था। (इंपुट: एजेंसी के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here