आरटीआई एक्ट में बदलाव को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- सच्चाई छिपाने में विश्वास करती है बीजेपी

0
2
@INCIndia

सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा बदलाव की तैयारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि सरकार इस कानून को कमजोर करने की तैयारी में है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी आरटीआई में बदलाव का विरोध किया है। दरअसल, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक संसोधन के जरिए सरकार सूचना आयुक्तों का कार्यकाल और वेतन का अधिकार अपने हाथ में लेने की तैयारी में है।

राहुल गांधी
file photo- @INCIndia

राहुल गांधी ने आरटीआई विधेयक में प्रस्तावित संशोधन की आलोचना करते हुए गुरुवार (19 जुलाई) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी सच्चाई छिपाने में विश्वास करती है। कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा, हर भारतीय को सच्चाई जानने का अधिकार है। बीजेपी का मानना है कि सत्य लोगों से छिपा होना चाहिए और उन्हें सत्ता में बैठे लोगों से सवाल नहीं करना चाहिए। आरटीआई में प्रस्तावित संधोधन इसे बेकार बना देंगे।

उन्होंने कहा कि सूचना का अधिकार (संशोधन) विधेयक 2018 का हर भारतीय द्वारा विरोध किया जाना चाहिए। दरअसल, केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा था कि वह सूचना का अधिकार (आरटीआई) अधिनियम, 2005 में संशोधन करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरटीआई एक्ट में प्रस्तावित संशोधन के अनुसार सीआईसी और सूचना आयुक्तों के लिए वेतन, भत्ते और सेवा शर्तें उसी तरह होंगी जैसे केंद्र सरकार इसे निर्धारित करेगी। आरटीआई कार्यकर्ता यह कह कर इसका विरोध कर रहे हैं कि इस संशोधन का मकसद सूचना आयुक्तों के ओहदे को कम करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here