निजता का अधिकार: राहुल गांधी बोले- फासीवादी ताकतों को झटका है सुप्रीम कोर्ट का फैसला

0

सुप्रीम कोर्ट द्वारा निजता के अधिकार को भारत के संविधान के तहत मौलिक अधिकार घोषित किए जाने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) और मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने निजता के अधिकार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह प्रत्येक भारतीय की जीत है।

FILE PHOTO: @OfficeOfRG

राहुल गांधी ने गुरुवार(24 अगस्त) को ट्वीट कर कहा, ‘निजता के अधिकार को एक व्यक्ति के सम्मान और आजादी का हिस्सा मानते हुए बरकरार रखने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत है।’ इसके बाद एक अन्य ट्वीट में मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने फासीवादी ताकतों को झटका दिया है। निगरानी के जरिए दमन की विचारधारा को खारिज किया गया है।’

वहीं, कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि निजता निजी स्वतंत्रता के मूल में है, जीवन का अभिन्न हिस्सा है। कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट द्वारा एकमत से निजता के अधिकार को संविधान के तहत मौलिक अधिकार घोषित करने का स्वागत करती है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने आर्टिकल 21 का जिस तरह से मतलब निकाला उससे निजता के अधिकार का हनन हुआ।

कांग्रेस नेता ने कहा कि जो आधार हम लाए थे वह निजता के अधिकार के साथ समन्वय में था। चिदंबरम ने कहा कि आधार में कोई कमी नहीं है, यह सरकार जिस तरह से आधार का इस्तेमाल या गलत इस्तेमाल करना चाहती है, गड़बड़ उसमें है। वहीं, बीजेडी सांसद जय पांडा ने कहा कि निजता की जरूरत और डेटा प्रोटेक्शन को लेकर लिखता रहा हूं, लोकसभा में बिल भी पेश किया था। फैसले का स्वागत करता हूं।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार(24 अगस्त) को बड़ा फैसला सुनाते हुए निजता के अधिकार को भारत के संविधान के तहत मौलिक अधिकार घोषित किया। प्रधान न्यायाधीश जे. एस. खेहर की अध्यक्षता वाली नौ सदस्यीय संविधान पीठ ने फैसले में कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 (जीने के अधिकार) के तहत दिए गए अधिकारों के अंतर्गत प्राकृतिक रूप से निजता का अधिकार संरक्षित है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here