राहुल गांधी ने नीतीश कुमार पर लगाया धोखा देने का आरोप, कहा- स्वार्थ के लिए तोड़ा गठबंधन

0

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए गुरुवार(27 जुलाई) को जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा है कि नीतीश कुमार ने बहुत बड़ा धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार मुझसे मिले थे। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि पहले से पता था कि खिचड़ी पक रही है। राहुल ने कहा कि मुझे पता था कि यह साजिश चल रही है। हिंदुस्तान की राजनीति में व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी कर जाता है।

फाइल फोटो।

राहुल ने आगे कहा कि राजनीति में आदमी के दिमाग का पता चल जाता है। तीन-चार महीने से मुझे पता चल गया था कि यह प्लानिंग चल रही है। हिंदुस्तान की राजनीति में यही दिक्कत है। अपने स्वार्थ के लिए व्यक्ति कुछ भी कर देते हैं। सत्ता के लिए कुछ भी कर देते हैं।

बता दें कि बिहार में महागठबंधन खत्म हो गया है। नीतीश कुमार फिर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के साथ हो गए हैं। महागठबंधन की सरकार से इस्तीफे के तुरंत बाद नीतीश कुमार को बीजेपी का साथ मिल गया और अब वह दोबारा आज(27 जुलाई) मुख्यमंत्री पद की शपथ ले लिए हैं।

नीतीश ने गुरुवार को छठी बार बिहार के सीएम के तौर पर शपथ ली। वहीं, सीनियर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने बतौर उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इससे पहले देर रात नीतीश कुमार ने बीजेपी विधायकों के साथ राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया।

वहीं, तेजस्वी यादव ने भी 100 विधायकों के साथ रात में राजभवन तक मार्च किया। राज्यपाल ने उन्हें सुबह 11 बजे मिलने का समय दिया, लेकिन बाद में नीतीश कुमार को सुबह 10 बजे ही शपथ के लिए बुलाकर नीतीश का रास्ता साफ कर दिया, जिससे खफा तेजस्वी ने राज्यपाल के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाने की बात कही है।

नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों के मुद्दे पर गठबंधन के सहयोगी दल राजद के साथ ना मिट सकने वाले मतभेदों का हवाला देते हुए बुधवार(26 जुलाई) को इस्तीफा दे दिया।

कुमार ने राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी को इस्तीफा सौंपने के बाद राज भवन के बाहर संवाददाताओं से कहा कि बिहार में जो परिस्थितियां बनी हुई, उसमें महागठबंधन सरकार चलाना मुश्किल हो गया है।’ नीतीश ने कहा कि मैंने इसे सुलझाने की कोशिश की, मैंने किसी से इस्तीफे के लिए नहीं कहा। उन्होंने कहा कि मैंने केवल तेजस्वी से भ्रष्टाचार के आरोपों पर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा था।

 

 

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here