इस्तीफे की पेशकश के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहली बार तोड़ी ‘चुप्पी’

0

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में आत्ममंथन का दौर जारी है। इस बीच संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी को शनिवार (1 जून) को कांग्रेस संसदीय दल का नेता चुना गया। इससे पहले भी सोनिया यह भूमिका निभा रही थीं। संसद के केंद्रीय कक्ष में हुई कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में सोनिया को नेता चुना गया। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के मुताबिक नेता चुने जाने के बाद सोनिया ने देश के उन 12.13 करोड़ मतदाताओं का आभार प्रकट किया जिन्होंने इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया।

इस बैठक में सभी की नजरें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर थी, जिन्होंने लोकसभा चुनावों में हार के बाद इस्तीफे की पेशकश की थी। इस्तीफे की पेशकश के बाद राहुल पहली बार कांग्रेस की किसी बैठक में शामिल हुए और सार्वजनिक तौर पर अपनी चुप्पी तोड़ी। राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि पार्टी के हर कार्यकर्ता को यह याद रखना चाहिए कि वह संविधान एवं देश के हर नागरिक के लिए लड़ रहा है।

राहुल गांधी पार्टी के संसदीय दल की बैठक में बोल रहे थे। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के मुताबिक, गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस के हर कार्यकर्ता को यह याद रखना चाहिए कि आप संविधान के लिए लड़ रहे हैं, आप देश के हर व्यक्ति के लिए लड़ रहे हैं चाहे वह किसी भी रंग या आस्था का हो।’ कांग्रेस अध्यक्ष ने लोकसभा चुनाव में मेहनत के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट किया।

गत 25 मई को कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश करने के बाद गांधी पहली बार पार्टी की किसी बैठक में शामिल हुए हैं। हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी, हालांकि सीडब्ल्यूसी ने प्रस्ताव पारित कर इसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया था और पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए उन्हें अधिकृत किया।

सोनिया गांधी मतदाताओं को दिया धन्यवाद

वहीं, लोकसभा चुनाव में करारी हार और इसके बाद राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश के बाद पैदा हुए राजनीतिक संकट की पृष्ठभूमि में पार्टी संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस को फिर से मजबूत करने के लिए ‘कई निर्णायक कदमों’ पर चर्चा चल रही है। कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करना चाहती हूं, जिन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी की शत्रुता का सामना किया। यह उनकी मेहनत और धैर्य का परिणाम है कि देश के 12.3 करोड़ लोगों ने कांग्रेस में अपना विश्वास प्रकट किया।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here