राहुल गांधी का तंज, बोले- 1.45 लाख करोड़ का सबसे महंगा इवेंट होगा ‘हाउडी मोदी’

0

केंद्र सरकार द्वारा कॉर्पोरेट टैक्स घटाए जाने के फैसले पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केरल के वायनाड से पार्टी सांसद राहुल गांधी ने तंज कसा है। राहुल ने सरकार के इस फैसले को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका में होनें वाले इवेंट ‘हाउडीमोदी’ से जोड़ा और कहा कि शेयर बाजार में उछाल के लिए प्रधानमंत्री कुछ भी करने को तैयार हैं, वो भी तब जब उनका #HowdyIndianEconomy का उत्सव चल रहा है।

राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर लिखा, #हाउइंडियनइकॉनमी के बीच नीचे जाते शेयर बाजार के लिए मोदी ने जो किया वह शानदार है। राहुल गांधी ने इसी ट्वीट में अमेरिका में होने वाले हाउडी मोदी कार्यक्रम को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने लिखा, 1.4 लाख करोड़ रुपये के साथ ह्यूस्टन इवेंट दुनिया का अब तक का सबसे महंगा इवेंट है। राहुल गांधी ने आगे लिखा कि ‘लेकिन कोई भी इवेंट उस आर्थिक संकट को छिपा नहीं सकता, जिसमें हाउडीमोदी ने भारत को डाल दिया है।’

बता दें कि, शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉर्पोरेट टैक्स घटाने का ऐलान किया था। कॉर्पोरेट टैक्स घटाए जाने और अन्य रियायतों से सरकार के खजाने पर 1.45 लाख करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। राहुल गांधी इसी पैसे का जिक्र कर रहे हैं।

एक तरफ राहुल गांधी ने इस फैसले पर सवाल उठाए हैं तो वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन फैसलों को ऐतिहासिक करार दिया है। पीएम ने ट्वीट कर इन फैसलों के लिए वित्त मंत्री की तारीफ की।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कॉरपोरेट कर की दरें कम किए जाने को ‘‘ऐतिहासिक कदम’’ करार देते हुए कहा कि इससे ‘मेक इन इंडिया’ में बड़ा उछाल आने के साथ ही निवेश भी आकषिर्त होगा, निजी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढेगी एवं रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ पिछले कुछ सप्ताहों में जो घोषणाएं हुई हैं वह प्रदर्शित करती हैं कि हमारी सरकार भारत को कारोबार के लिहाज से बेहतर स्थान बनाने, समाज के सभी वगरें के लिये अवसर बेहतर बनाने तथा भारत को 5000 अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाकर समृद्धि बढाने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ रही है।’’

मोदी ने कहा, ‘‘कारपोरेट कर में कटौती का कदम ऐतिहासिक है। इससे मेक इन इंडिया’ में बड़ा उछाल आयेगा, दुनिया भर से निवेश आकषिर्त होगा, निजी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढेगी एवं रोजगार के अधिक अवसर सृजित होंगे। इसके परिणामस्वरूप 130 करोड़ भारतीयों के लिये बेहतर परिणाम आयेंगे।’’

गौरतलब है कि सरकार ने आर्थिक वृद्धि दर को गति देने के लिये बड़ी घोषणा करते हुए शुक्रवार को कॉरपोरेट कर की प्रभावी दर घटा दी। अब घरेलू कंपनियों के लिये सभी अधिशेषों और उपकर समेत कॉरपोरेट कर की प्रभावी दर 25.17 प्रतिशत होगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि नयी दर इस वित्त वर्ष के एक अप्रैल से प्रभावी होगी। उन्होंने कहा कि दर कम करने तथा अन्य घोषणाओं से राजस्व में सालाना 1.45 लाख करोड़ रुपये की कमी का अनुमान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here