लोकसभा चुनाव: राहुल गांधी ने सीएम केजरीवाल पर बोला तीखा हमला, AAP से गठबंधन नहीं होने की बताई यह वजह

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (6 मई) को एक बार फिर विश्वास जताया कि राष्ट्रीय राजधानी की अगली सरकार उन्हीं की पार्टी की होगी। उन्होंने आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें इस बात पर विचार करना चाहिए कि 2014 में कांग्रेस के बारे में किसने झूठ बोला और भाजपा के लिए दरवाजा खोल दिया।

राहुल गांधी

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने यह बातें दिल्ली के चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र के सदर इलाके में एक चुनावी सभा में पार्टी प्रत्याशी जे.पी.अग्रवाल के लिए प्रचार के दौरान कहीं। उन्होंने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं होने की वजह बताई।

राहुल ने कहा, “मैंने उनसे (केजरीवाल से) कहा कि हमें दिल्ली की सभी सातों सीट जीतनी चाहिए। मैंने उनसे कहा कि आप चार सीट पर लड़ें, तीन पर कांग्रेस लड़ेगी। पहले उन्होंने कहा, ओके। जैसे ही मैंने इसे मंजूरी दी, उन्होंने हरियाणा और पंजाब की बात उठा दी। यहीं से गठबंधन की बात टूट गई।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा, “केजरीवाल को इस पर विचार करना चाहिए कि बीजेपी के लिए दरवाजा किसने खोला (पार्टी को असर बढ़ाने का मौका किसने दिया), कांग्रेस के बारे में झूठ किसने बोला? यह अकेले बीजेपी ने नहीं किया था।” उन्होंने लोगों से इस पर विचार करने को कहा कि कौन पार्टी पूरे देश में बीजेपी को कड़ी चुनौती दे रही है।

उन्होंने कहा, “जहां कहीं भी मोदी गए, हमने, कांग्रेस ने, हर जगह उनका मुकाबला किया। हमने उन्हें कई राज्यों में हराया। अगर भारत में कोई पार्टी भाजपा को रोक सकती है तो वह कांग्रेस है। यह विचारधाराओं की लड़ाई है। मैं आपसे गारंटी के साथ कह रहा हूं कि कांग्रेस, भाजपा को हराएगी।”

बता दें कि दोनों दलों के बीच कई दौर की बातचीत चली लेकिन कांग्रेस और AAP के बीच गठबंधन नहीं हो सका। कांग्रेस-आप के गठबंधन को काफी अहम माना जा रहा था और यह तय माना जा रहा था कि यदि गठबंधन हुआ तो बीजेपी के लिए कड़ी चुनौती होगी और बीजेपी एक-दो से ज्यादा सीटें नहीं जीत पाएगी।

गौरतलब है कि, दिल्ली में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस के बीच गठबंधन न होने के बाद राजधानी की सियासत हर रोज एक नई करवटें बदल रहा है। गठबंधन नहीं होने से अब राजधानी में त्रिकोणीय मुकाबले की स्थिति बन गई है। हालांकि, अब गठबंधन न होने की स्थिति में बीजेपी फायदे में मानी जा रही है।

दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर मतदान 12 मई का छठे चरण में होगा। मतगणना 23 मई को होगी। 2014 के आम चुनाव में इन सभी सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here