राहुल गांधी बोले- ‘कर्नाटक में लालच की हुई जीत, लोकतंत्र और ईमानदारी हार गई’, प्रियंका वाड्रा ने भी BJP पर साधा निशाना

0

कर्नाटक में पिछले काफी समय से जारी सियासी उठापटक एक तरह से विराम लग गया है। कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) की सरकार मंगलवार (24 जुलाई) को विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने में विफल रही और सरकार गिर गई। इसीके साथ राज्य में करीब तीन हफ्ते से चल रहे राजनीतिक ड्रामे का अंत हो गया। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को संख्या बल का साथ नहीं मिला और उन्होंने विश्वास मत प्रस्ताव पर चार दिन की चर्चा के खत्म होने के बाद हार का सामना किया।

विधानसभा में पिछले गुरुवार को उन्होंने विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया था। विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने ऐलान किया कि 99 विधायकों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया है जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मत दिया है। इस प्रकार यह प्रस्ताव गिर गया। इसके साथ ही भाजपा ने कहा है कि वह कनार्टक में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। बताया जा रहा है कि सरकार बुधवार को सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है।

कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार गिरने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर ट्वीट कर निशाना साधा है। राहुल ने ट्विटर के जरिए भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा है कि कर्नाटक में लालच की जीत हुई है। वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा को कठघरे में खड़ा किया है।

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ‘कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार बनने के पहले दिन से बाहरी और भीतरी दोनों ओर से यह निशाने पर थी। जो लोग इस गठबंधन को सत्ता के रास्ते में एक खतरे और बाधा के रूप में देख रहे थे, आज उनका लालच जीत गया है। यह लोकतंत्र, ईमानदारी और कर्नाटक की जनता की हार है।’

कर्नाटक में कुमारस्वामी के नेतृत्व में कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन वाली सरकार गिरने पर प्रियंका गांधी वाड्रा की भी प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भाजपा पर संस्थाओं और लोकतंत्र को व्यवस्थित ढंग से कमजोर करने का आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, एक दिन भाजपा को यह पता चलेगा कि सब कुछ नहीं खरीदा जा सकता, हर किसी के पीछे नहीं पड़ा जा सकता और हर झूठ आखिरकार बेनकाब होता है। तब तक मुझे लगता है कि हमारे देश की जनता को कमजोर होते लोकतंत्र, उनके बेलगाम भ्रष्टाचार और उन संस्थाओं के व्यवस्थित विध्वंस को सहन करना होगा, जिन्होंने जनता के हितों की रक्षा के लिए दशकों का परिश्रम और बलिदान दिया है।

वहीं कर्नाटक विधानसभा में एचडी कुमारस्वामी नीत सरकार का विश्वास प्रस्ताव गिरने के बाद कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि भाजपा ने ‘अनैतिक ढंग’ से भले ही संख्या के मामले में बढ़त हासिल कर ली, लेकिन उसे और सहयोगी जद(एस) को नैतिक जीत मिली है। पार्टी के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने यह भी कहा कि कांग्रेस भाजपा की इस ”राजनीतिक खरीद-फरोख्त” के खिलाफ अब देशभर में प्रदर्शन करेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here