ए आर रहमान ने शेयर की बेटी की नकाब पहनें तस्वीर, आलोचना होने पर बेटी खतीजा ने दिया करारा जवाब

0

ऑस्कर और ग्रैमी जैसे प्रतिष्ठित अवॉर्ड से सम्मानित मशहूर संगीतकार ए आर रहमान ने अपनी बेटी के नकाब पहनने पर सोशल मीडिया पर हो रही आलोचना का जवाब दिया है। संगीतकार ने कहा कि उसे अपनी पसंद की पोशाक चुनने अधिकार है। वहीं, रहमान की बेटी खतीजा ने भी इस मुद्दे पर चुप रहने की बजाए ट्रोलर्स को इसका मुंहतोड़ जवाब दिया।

ए आर रहमान

दो ऑस्कर पुरस्कारों से सम्मानित अपने पिता रहमान की फिल्म ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ के संगीत के दस साल पूरे होने के मौके पर रहमान की बेटी खतीजा साड़ी और नकाब पहनी नजर आई थीं, जिसपर सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रियाएं दी गई थीं।

दरअसल, हाल ही में 51 वर्षीय रहमान ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की थी जिसमें उनकी पत्नी और बेटी रहीमा बिना नकाब पहने दिखाई दे रही हैं जबकि खतीजा का चेहरा नकाब से ढका हुआ है। तस्वीर में वह नीता अंबानी के साथ खड़ी हैं।

इस तस्वीर को शेयर करते हुए ए आर रहमान ने लिखा, ”मेरे परिवार की अनमोल महिलाएं खतीजा, रहीमा और सायरा नीता अंबानी जी के साथ।” इसके साथ ही उन्होंने हैशटैग डाला #freedomtochoose यानी चुनने की आज़ादी।

रहमान के तस्वीर डालते ही सोशल मीडिया यूजर्स मे उस पर अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दीं। लोगों ने उन्हें ट्रोल भी किया। हालांकि, कई यूजर्स ने उनका समर्थन भी किया।

रहमान ने अपनी बेटी के नकाब पहनने पर सोशल मीडिया पर हो रही आलोचना का जवाब दिया है। रहमान ने कहा कि उसे अपनी पसंद की पोशाक चुनने अधिकार है। वहीं, रहमान की बेटी खतीजा ने भी इस मुद्दे पर चुप रहने की बजाए ट्रोलर्स को इसका मुंहतोड़ जवाब दिया।

खतीजा ने इस बारे में फेसबुक पर लिखा, ”मुझे लेकर मेरे पिता के साथ काफी चर्चाएं हो रही हैं। हालांकि, मैंने इतनी ज़्यादा प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं की थी। हालांकि, कुछ कमेंट में कहा गया है कि मेरे कपड़े मेरे पिता द्वारा मुझ पर थोपे हुए हैं और वो दोहरे मानदंड अपनाते हैं। मैं ये कहना चाहूंगी कि मेरी ज़िंदगी में मैं जो कपड़े पहनती हूं या चुनती हैं उसका मेरे माता-पिता से कोई लेना-देना नहीं है। घूंघट पूरी स्वीकृति और सम्मान के साथ मेरी व्यक्तिगत पसंद रहा है। हर एक इंसान को अपनी पसंद के कपड़े चुनने या जो करना चाहे वो करने का अधिकार है और मैं यही कर रही हूं। इसलिए, कृप्या सटीक स्थिति को समझे बिना अपने नतीजे न निकालें।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here