अमर्त्य सेन ने कहा, रघुराम राजन का जाना देश के लिए और देश की सरकार के लिए भी दुखद है

1

नोबेल पुरस्कार विजेता अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन के दूसरे कार्यकाल न लेने के फैसले को देश के लिए ‘दुखद’ बताया और कहा कि भारत दुनिया के सबसे दक्ष आर्थिक विचारकों में से एक खो रहा है।

PTI भाषा ने सेन के हवाले से कहा, ‘हम दुनिया के सबसे दक्ष आर्थिक विचारकों में से एक खो रहे हैं। यह देश के लिए और देश की सरकार के लिए भी दुखद है। आरबीआई एक पूर्ण स्वायत्त संस्थान नहीं है।’
Amartya-Sen

सेन ने अपनी राय एक निजी चैनल से बात करते हुए रखी।

सेन ने राजन पर कई मौकों पर हमला करने वाले भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी की तरफ साफ इशारा करते हुए कहा, ‘मैं समझता हूं, मैंने तो नहीं देखा, लेकिन किसी ने मुझे बताया कि यह सच है कि सत्तारूढ़ दल के कुछ सदस्य रघुराम राजन पर कटाक्ष करते रहे हैं। यह निश्चित तौर पर दुर्भाग्यपूर्ण है।’

राजन ने शनिवार को रिजर्व बैंक मे अपने स्टाफ को लिखे एक इमेल मे इस बात का खुलासा किया था कि 4 सितंबर को अपने कार्यकाल समाप्त होने के बाद वह फिर से अमेरिका लौट जाएंगे । उनके इस फैसले ने आर्थिक जगत में सनसनी फैला दी थी । अधिकतर विशेषज्ञो का मानना है कि राजन का जाना भारत केलिए दुर्भाग्यपूर्ण होगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here