नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कहने पर नीतीश कुमार ने की प्रज्ञा ठाकुर की निंदा, राबड़ी देवी ने की NDA से अलग होने की अपील

0

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी और आतंकी आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान को निंदनीय बताने वाले बिहार के मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के बयान पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) की नेता राबड़ी देवी ने पलटवार किया है। बता दें कि, नीतीश कुमार ने प्रज्ञा ठाकुर की गोडसे पर विवादित टिप्पणी की निंदा करते हुए रविवार को कहा कि उनकी पार्टी ऐसी बातों को बर्दाश्त नहीं करेगी।

नीतीश कुमार
(File Photo: IANS)

पटना के राजभवन के पास एक सरकारी स्कूल में स्थित एक मतदान केंद्र पर वोट डालने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने गोडसे को देशभक्त बताने संबंधी प्रज्ञा के बयान पर कहा “यह बहुत ही निंदनीय है। हम इन चीजों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। बापू राष्ट्र के पिता हैं और लोग पसंद नहीं करेंगे अगर कोई इस तरह से गोडसे के बारे में बात करे”।

यह पूछे जाने कि प्रज्ञा के इस विवादित बयान को लेकर क्या भाजपा को उन्हें पार्टी से निष्कासित कर देना चाहिए, नीतीश ने कहा कि इस पर विचार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह भाजपा का आंतरिक मामला है लेकिन जहां तक देश या विचारधारा का सवाल है ऐसी बातों को बर्दाश्त करने का कोई सवाल ही नहीं है।

नीतीश के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने निशाना साधा है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक राबड़ी देवी ने कहा, ‘सरकार से अलग हो जाना चाहिए था, इतनी तकलीफ है प्रज्ञा ठाकुर से तो इस्तीफा देकर अलग हो जाना चाहिए उनको।’ बता दें कि जेडी(यू) बिहार में एनडीए की सहयोगी है।

गौरतलब है कि देवास लोकसभा सीट पर 19 मई को होने वाले चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी महेन्द्र सोलंकी के समर्थन में आगर मालवा में रोड शो कर रही प्रज्ञा ने एक सवाल के जवाब में स्थानीय न्यूज चैनल से बृहस्पतिवार को कहा था, ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांक कर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा।’

हालांकि कुछ घंटे बाद ही प्रज्ञा ने अपना बयान वापस ले लिया और माफी भी मांग ली थी लेकिन उनकी माफी के बाद भी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। (इंपुट: भाषा और ANI के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here