अमित शाह बोले- ‘BJP प्रेस और मीडिया की स्वतंत्रता की पक्षधर है’, पुण्य प्रसून बाजपेयी सहित कई पत्रकारों ने कसा तंज

3

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का मीडिया और प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर दिया गया एक बयान सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। बीजेपी अध्यक्ष ने एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के घोषणापत्र का जिक्र कर आरोप लगाया कि आपातकाल के वक्त अखबारों और दूरदर्शन पर ताले लगाने वाली कांग्रेस फिर से आपातकाल के हालत पैदा करना चाहती है, लेकिन मैं मीडिया को विश्वास दिलाता हूं कि बीजेपी और मोदी सरकार ऐसा नहीं होने देगी। शाह के इस बयान की सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रही है। कई पत्रकारों ने इस अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

शाह ने अपने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस मीडिया पर कई पाबंदिया लगाना चाहती है। शाह ने ट्वीट किया, “आपातकाल के वक़्त अखबारों और दूरदर्शन पर ताले लगाने वाली कांग्रेस फिर से आपातकाल के हालत पैदा करना चाहती है, लेकिन मैं मीडिया को विश्वास दिलाता हूं कि भाजपा ऐसा नहीं होने देगी। भाजपा प्रेस की स्वतंत्रता की पक्षधर है। मैं अभी भी राहुल गांधी से अपील करूंगा कि वो इस पर आत्मचिंतन करें।”

शाह के इस बयान पर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्वीट कर तंज कसा है। बाजपेयी ने अमित शाह के बयान को शेयर करते हुए लिखा है, “शाह साहेब..कैसे कह लेते है ये सब..!” बाजपेयी के अलावा कई सोशल मीडिया यूजर्स और पत्रकारों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

देखिए, लोगों ने प्रतिक्रियाएं:

बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कथित तौर पर सरकार की आलोचनाओं की वजह से दो-दो न्यूज चैनलों से हटने को मजबूर हुए पुण्य प्रसून वाजपेयी को सूर्या टीवी चैनल ने भी नोटिस दे दिया है और जल्द ही उनकी सूर्या समाचार से भी ‘छुट्टी’ हो सकती है। इससे उन्हें आजतक और ABP न्यूज से इस्तीफा देना पड़ा था। ABP न्यूज में पिछले साल अगस्त में भारी उथल पुथल देखने को मिला था।

मोदी सरकार के आलोचक के रूप में चैनल में कार्यरत प्रमुख नामों को या तो इस्तीफा देने पर मजबूर कर दिया गया या उन्हें रिपोर्ट ना करने के लिए निर्देश दे दिया गया। ABP न्यूज़ में गत वर्ष 1-2 अगस्त को जो कुछ हुआ, वह काफी भयानक था। 24 घंटे के अंदर चैनल के मैनेजिंग एडिटर मिलिंद खांडेकर और वरिष्ठ पत्रकार व एंकर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ABP न्यूज से इस्तीफा दे दिया। प्रसून के अलावा अभिसार शर्मा को भी लंबी छुट्टी पर भेज दिया गया और बाद में उन्होंने भी चैनल से इस्तीफा दे दिया।

एबीपी न्यूज पर बाजपेयी का ‘मास्टर स्ट्रोक’ शो हर रोज सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे आता था। उस दौरान आरोप लगाया कि मिलिंद खांडेकर और पुण्य प्रसून बाजपेयी की विदाई ‘मास्टरस्ट्रोक’ के कारण ही हुई। बाजपेयी अपने शो ‘मास्टर स्ट्रोक’ से मोदी सरकार की ना​कामियों और जनता से किए कथित झूठे वादों का सच उजागर कर रहे थे। जिसके चलते उन्हे अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा।

3 COMMENTS

  1. वाजपेयी जी आप इतने बड़े पत्रकार हैं और इतना मासूम सा चुटकला नहीं समझ सकते।

  2. पुण्य प्रसून बाजपेयी का तंज, कहा- “साहेब…कैसे कह लेते हैं ये सब”
    आपको तो शुक्रगुजार होना चाहिए कि आपकी स्वतन्त्रता के लिए बी जे पी ने कितना संघर्ष किया है।

  3. यदि आज मीडिया बिका नहीं होता तो सारा मीडिया मोदी मोदी नहीं करता आज प्रेस स्वतंत्र है तभी तो ये सब कुछ हो रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here