कानपुर मुठभेड़: प्रियंका गांधी बोलीं- “यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं, पुलिस तक सुरक्षित नहीं है”

0

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में बदमाशों के साथ मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों के शहीद होने पर गहरा दुख जताया और कहा कि राज्य सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई में ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए।

प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, “बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें उत्तर प्रदेश पुलिस के सीओ, एसओ सहित आठ जवान शहीद हो गए। यूपी पुलिस के इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं।” उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं। आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख़्त कार्रवाई करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए।”

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, “कानपुर की दुखद घटना में पुलिस के 8 वीरों की शहादत को श्रद्धांजलि! उप्र के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में ‘सत्ताधारियों और अपराधियों ‘की मिलीभगत का ख़ामियाज़ा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा है। अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार अपनी पोलपट्टी खुलने के डर से आनन-फ़ानन में मुख्य अपराधी को न पकड़कर छोटी-मोटी मुठभेड़ दिखाने का नाटक करवा रही है। इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल और गिरेगा तथा पुलिस का आक्रोश भी बढ़ेगा। सरकार तुरंत मुआवज़ा घोषित करे व परिजनों को हर संभव संरक्षण दे। निंदनीय!”

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी। जिसमें डीएसपी देवेंद्र मिश्रा और थाना प्रभारी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। वहीं, इस घटना में कई पुलिस वाले घायल भी बताए जा रहे हैं। पुलिस की एक टीम हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए पहुंची थी। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गोलीबारी कानपुर जिले के चौबेपुर पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत बिकरू गांव में हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here