पहली सार्वजनिक रैली के बाद अब प्रियंका गांधी वाड्रा का सामने आया पहला ट्वीट, जानें एक महीने बाद अपने पहले ट्वीट में क्या लिखा?

0

राजनीति में एंट्री के बाद अपने पहले सार्वजनिक भाषण में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार (12 मार्च) को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस महासचिव वाड्रा ने गुजरात में पहली बार रैली को संबोधित करने के साथ ही मंगलवार देर रात पहली बार ट्वीट भी किया। उन्होंने एक के बाद एक लगातार दो ट्वीट किए हैं।

प्रियंका गांधी
@INCIndia

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर दस्तक देने के एक महीने बाद मंगलवार रात अपना पहला ट्वीट किया। उन्होंने इसमें साबरमती आश्रम का उल्लेख किया और महात्मा गांधी के एक कथन का हवाला देते हुए कहा कि हिंसा सदा बुरी होती है।

अहमदाबाद में कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में शामिल होने के बाद पार्टी महासचिव ने यह ट्वीट किया। उन्होंने कहा, ”साबरमती की सादगी में सत्य जीवित है।”

वहीं, प्रियंका ने अपने दूसरे ट्वीट में महात्मा गांधी के एक कथन का हवाला देते हुए कहा कि अगर हिंसा के मकसद में कुछ अच्छा दिखता है तो वह अस्थायी होता है, जबकि हिंसा में बुराई सदा के लिए होती है।

‘नफरत फैलाई जा रही है’

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में उन पर तीखा हमला बोला और कहा कि देश में चारों तरफ नफरत फैलाई जा रही है जिसका सभी को मिलकर मुकाबला करना है। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सचेत किया कि असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की लगातार कोशिश की जाएगी, लेकिन वे रोजगार, किसानों और महिला सुरक्षा के मुद्दों को लेकर सवाल पूछते रहें।

प्रियंका ने अहमदाबाद में कांग्रेस की जनसभा में कहा, ‘‘पहली बार गुजरात आई हूं और पहली बार उस साबरमती आश्रम गई जहां से महात्मा गांधी ने आजादी के लिए संघर्ष की शुरुआत की थी। वहां बैठकर लगा कि आंखों में आंसू आ जाएंगे। उन लोगों की याद आई जिन्होंने देश के लिए अपना सबकुछ न्यौछावर कर दिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह देश प्रेम, सद्भाव और आपसी प्यार के आधार पर बना है। आज जो कुछ देश में हो रहा है उससे दुख होता है।’’

कांग्रेस महासचिव ने लोगों का आह्वान करते हुए कहा, ‘‘इससे बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है कि आप जागरुक बनें। आपकी जागरुकता एक हथियार है, आपका वोट एक हथियार है, लेकिन ये एक ऐसा हथियार है जिससे किसी को चोट नहीं पहुंचानी, किसी को दुखी नहीं करना, किसी को नुकसान नहीं पहुंचाना है। ये एक ऐसा हथियार है जो आपको मजबूत बनाएगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आपको बहुत गहराई से सोचना पड़ेगा कि ये चुनाव क्या है? इसमें आप क्या चुनने जा रहे हैं? आप अपना भविष्य चुनने जा रहे हैं, फिजूल के मुद्दे नहीं उठने चाहिए, जो मुद्दे उठने चाहिए वो ये होने चाहिए कि आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या है? आप आगे कैसे बढ़ेंगे? नौजवानों को रोजगार कैसे मिलेगा? महिलाएं खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेंगी? आगे कैसे बढ़ेंगी? किसानों के लिए क्या किया जाएगा?’’

पीएम मोदी पर बोला हमला

प्रियंका ने कहा कि ये चुनावी मुद्दे हैं और आपकी जागरुकता ही इन मुद्दों को आगे ला सकती है। उन्होंने प्रधानमंत्री का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘जो आपके सामने बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, बड़े-बड़े वादे करते हैं, उनसे पूछिए कि जो 2 करोड़ रोजगार, जिनका उन्होंने आपको वचन दिया था, वो रोजगार कहां है? उनसे पूछिए कि जो 15 लाख आपके खाते में आने थे, वो 15 लाख कहां गए? जिन महिलाओं की सुरक्षा की बात करते थे, उन महिलाओं को किसने पूछा है इन पांच सालों में?’’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘आगे आने वाले दो महीनों में आपके सामने तमाम मुद्दे उछाले जाएंगे, आपकी जागरुकता ही इस देश को बनाएगी। ये आपकी जिम्मेदारी है, आपकी देशभक्ति इसी में प्रकट होनी चाहिए।’’ प्रियंका ने कहा, ‘‘ आवाज यहीं से उठनी चाहिए। आप उन्हें बताइए कि इस देश की फितरत क्या है? इस देश की फितरत है कि नफरत की हवाओं को प्रेम एवं करुणा में बदलेगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आने वाले दिनों में सही निर्णय लीजिए। सही सवाल करिए। यह देश आपने बनाया है। यह (चुनाव) आजादी की लड़ाई से कम नहीं है। संस्थाएं नष्ट की जा रही है। जहां देखिए वहां नफरत फैलाई जा रही है। हम मिलकर काम करें और एकजुट होकर आगे बढ़ें।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here