लोधी स्टेट के बंगले को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी में ट्विटर पर छिड़ी जंग

0

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लोधी एस्‍टेट में आवंटित सरकारी आवास मामले को लेकर सोशल मीडिया पर मंगलवार सुबह से ही बहस छिड़ गई। इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और प्रियंका गांधी के बीच मंगलवार को ट्विटर वॉर छिड़ गया।

प्रियंका गांधी

दरअसल, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार सुबह न्यूज एजेंसी आईएएनएस द्वारा सोमवार देर रात जारी एक खबर का खंडन किया था। इस खबर में एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से दावा किया था कि प्रियंका गांधी ने अपने लुटियंस वाले बंगले में रहने की मोहलत बढ़ाने की मांग की थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विनम्रता के साथ उन्हें ऐसा करने की अनुमति दे दी है। यह खबर आने के बाद से इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा खबर को फर्जी को बताया।

प्रियंका गांधी ने अपने एक ट्वीट में कहा कि उन्‍होंने सरकार से ऐसी कोई मोहलत नहीं मांगी और वह एक अगस्‍त तक बंगला खाली कर देंगी। प्रियंका गांधी के ट्वीट के कुछ देर बाद ही शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी का ट्वीट आया। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने खुलासा किया कि प्रियंका की पैरवी के लिए एक बड़े कांग्रेसी नेता ने 4 जुलाई को उन्हें फोन किया था। पुरी ने अपने ट्वीट में दावा किया कि फोन करने वाले ने ‘किसी और कांग्रेस सांसद के नाम बंगला आवंटित करने का कहा ताकि प्रियंका वहां रहना जारी रख सकें।

हरदीप पुरी ने अपने ट्वीट में लिखा, “तथ्य खुद अपनी गवाही दे देते हैं। एक बड़े कांग्रेसी नेता ने 4 जुलाई 2020 को दोपहर 12.05 बजे मुझे फोन किया कि 35, लोधी एस्टेट को दूसरे कांग्रेस सांसद को आवंटित किया जाए, ताकि प्रियंका वाड्रा रह सकें।” उन्होंने आगे कहा, “कृपया हर चीज को सनसनीखेज नहीं बनाएं।”

पुरी के आरोपों का जवाब देते हुए प्रियंका ने फिर ट्वीट किया, “श्रीमान पुरी अगर आपको किसी ने फोन किया है तो इस चिंता के लिए मैं उनका आभार व्यक्त करती हूं और साथ ही विचार करने के लिए आपको भी धन्यवाद देती हूं। लेकिन इससे तथ्य नहीं बदल जाते। मैंने ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया है और मैं ऐसा कोई अनुरोध कर भी नहीं रही हूं।” उन्होंने यह भी जोर देकर कहा कि वह एक अगस्त तक घर खाली कर देंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here