प्रियंका गांधी वाड्रा पर अपशब्दों की बाढ़! अब BJP के मंत्री बोले, ‘पीएम मोदी के मुकाबले अभी बच्ची हैं प्रियंका गांधी’, यूजर्स बोले- बीजेपी नेताओं के लिए कोई तो लक्ष्मण रेखा होगी?

0

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की बेटी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के आधिकारिक तौर पर राजनीति में कदम रखने के बाद हड़कंप मच गया है। प्रियंका गांधी वाड्रा की राजनीति में आधिकारिक एंट्री के बाद से ही लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस के बीच तलवारें खिंच गई हैं। प्रियंका के राजनीति में आने आने के बाद बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं की तरफ से विवादित प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

प्रियंका गांधी

बीजेपी नेता व बिहार सरकार में मंत्री प्रमोद कुमार ने रविवार (27 जनवरी) को कहा कि नवनियुक्त कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अभी ‘बच्ची’ हैं। बिहार में सत्तारूढ़ नीतीश कुमार सरकार में पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा, “प्रियंका अभी बच्ची हैं…अगर कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ प्रतिस्पर्धा करना चाहती है तो उसे सोनिया गांधी को मैदान में उतारना चाहिए।”

कुमार ने कहा कि अब कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता प्रियंका में इंदिरा गांधी की छवि देख रहे हैं और पहले वे सोनिया गांधी में इंदिरा गांधी की छवि देखा करते थे। उन्होंने कहा, “कांग्रेस को चुनावों में मोदी के खिलाफ सोनिया को उतारना चाहिए क्योंकि उनकी उम्र मोदी की उम्र के करीब है। लेकिन, प्रियंका अभी बच्ची हैं।”

बता दें कि एक दिन पहले ही अन्य बीजेपी नेता व बिहार के मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा था कि प्रियंका बहुत सुंदर हैं लेकिन उनके पास कोई अन्य प्रतिभा नहीं है। झा ने कहा था, “प्रियंका गांधी बहुत सुंदर हैं लेकिन उनके पास कोई अन्य प्रतिभा नहीं है। वह राजनीति में नौसिखिया हैं। उनकी उम्र 37-38 होगी या इससे ज्यादा 44 हो सकती है। इतनी उम्र तक उन्होंने कोई राजनीतिक उपल्बधि हासिल नहीं की है। हां, वह बहुत सुंदर हैं, भगवान ने उन्हें यह दिया है। लेकिन वह इसका कितना फायदा उठा सकती हैं?”

इसके बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) के नेताओं ने प्रियंका गांधी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के लिए झा पर हमला बोला और उनसे माफी की मांग की। इसके अलावा सक्रिय राजनीति में प्रियंका गांधी की एंट्री पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने उनकी तुलना बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री करीना कपूर खान से की थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ‘चॉकलेटी चेहरों’ के बूते पर अगला लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है।

पीटीआई के मुताबिक विजयवर्गीय ने कहा था, ‘कभी कोई कांग्रेस नेता मांग करता है कि करीना कपूर को भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़वाया जाए तो कभी इंदौर से चुनावी उम्मीदवारी को लेकर सलमान खान के नाम पर चर्चा की जाती है। इसी तरह, प्रियंका को कांग्रेस की सक्रिय राजनीति में ले आया जाता है। अगले लोकसभा चुनाव के मैदान में उतारने के लिए कांग्रेस के पास मजबूत नेता नहीं हैं। इसीलिए वह ऐसे चॉकलेटी चेहरों के माध्यम से चुनाव लड़ना चाहती है।’

हालांकि, इस विवादित बयान के बाद सियासी विवाद पैदा हुआ तो अब कैलाश विजयवर्गीय की तरफ से सफाई सामने आई है। बीजेपी नेता विजयवर्गीय ने सफाई देते हुए कहा, ‘मैं अपने मीडिया के दोस्तों को कहना चाहूंगा कि यदि ऐसा कोई बयान है तो उसे दोबारा क्रॉस चेक करिए, क्योंकि मैंने चॉकलेटी चेहरे शब्द का इस्तेमाल बॉलीवुड ऐक्टर्स के लिए किया था, किसी राजनेता के लिए प्रयोग नहीं किया।’

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी को महासचिव बनाया है और उन्‍हें पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की जिम्‍मेदारी दी है। प्रियंका गांधी का सक्रिय राजनीति में आना और उन्‍हें पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की कमान दिया जाना कांग्रेस का मास्‍टर स्‍ट्रोक माना जा रहा है।

बीजेपी नेताओं के विवादित बयान को लेकर लोगों ने जताई नाराजगी

प्रियंका गांधी के राजनीति में आधिकारिक तौर पर एंट्री के बाद से आए दिन जिस प्रकार से बीजेपी नेताओं की तरफ से विवादित बयान दिए जा रहे हैं उसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों में काफी नाराजगी है। पत्रकार पंकज झा ने ट्वीट कर लिखा है, “प्रियंका गांधी के राजनीति में आने के एलान के बाद से ही बीजेपी के नेता क़िस्म क़िस्म के बयान दे रहे हैं… ऐसी बातें कह रहें कि वो अपने घर की महिलाओं के बारे में कभी न बोलें। कोई तो लक्ष्मण रेखा होगी!!”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here