बिन ब्‍लाउज की साड़ी पहनने पर ट्रोल हुईं प्रियंका चोपड़ा ने माफी मांगने से किया इनकार

0

बॉलीवुड एक्‍ट्रेस प्रियंका चोपड़ा आए दिन सुर्खियों में बनी रहती हैं। एक बार फिर प्रियंका चोपड़ा की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। हाल में ही प्रियंका चोपड़ा ने एक विदेशी मैगजीन के लिए पोटोशूट कराया था। जिसमें वह साड़ी पहनकर बोल्ड अवतार में नजर आईं, लेकिन बिना ब्लाउज की साड़ी के कारण वह काफी ट्रोल हो गईं।

फोटो में प्रियंका का काफी बोल्ड नजर आ रही हैं। फोटो में प्रियंका ने बैकलेस ब्लाउज के साथ गोल्डन साड़ी पहने हुए नजर आ रही हैं। ट्रोल होने के कुछ दिनों बाद प्रियंका ने अनूठे अंदाज में एक छोटे से वीडियो संदेश को साझा करते हुए कहा है कि उन्हें ‘ब्लाउज के बिना’ साड़ी पहनने पर किसी भी प्रकार का ‘खेद नहीं’ है। प्रियंका ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर कर ट्रोलर्स को जवाब दिया है।

चोपड़ा ने अपने फैंस को जिंदगी के पांच सबसे जरूरी सबक दिए हैं। प्रियंका का ये वीडियो काफी मजेदार है साथ ही साथ उन ट्रोलर्स के लिए सबक भी है जो चाहते हैं कि दुनिया उनके हिसाब से चले। पहली सीख में प्रियंका कह रही हैं- हमेशा बड़े बनो..अपनी स्कर्ट से भी ज्यादा। वहीं, दूसरे सबक में प्रियंका बता रही हैं कि कुछ छुपाने की जरूरत नहीं हैं। इस दौरान प्रियंका उस गेटअप में नजर आईं जिसमें उन्होंने बिना ब्लाउज के साड़ी कैरी किया था।

इसके बाद उनकी काफी आलोचना भी की गई थी। प्रियंका ने अपने इस टिप से अपने ट्रोलर्स को करारा जवाब दे दिया है। तीसरे सबक में प्रियंका कह रही हैं- साड़ी नॉट सॉरी। इस लिहाज से देखा जाए तो प्रियंका ने अपने इस सबक के जरिए उन ट्रोलर्स को जवाब देने की कोशिश की है।

दरअसल, बात यह है कि प्रियंका चोपड़ा ने साड़ी में फोटोशूट करवाया था, मगर भारतीय यूजर्स को जो बात ना-गवार गुजरी है वह यह कि अभिनेत्री ने साड़ी के साथ ब्‍लाउज नहीं पहना था। पत्रिका के कवर पेज पर प्रियंका का बैकलेस अवतार भारतीय लोगों को पसंद नहीं आया और इंस्‍टाग्राम पर देखते ही देखते नकारात्मक कमेंट्स की बौछार लग गई। कई यूजर्स ने प्रियंका को उनका भारतीय संस्‍कार याद दिलाते हुए कहा कि देश का संस्‍कार भूल गई है, हालांकि प्रियंका के कई फैंस ने उनका समर्थन भी किया है।

प्रियंका ने अपनी ब्लैकलेस साड़ी वाली तस्वीर शेयर करते हुए लिखा था कि फैशन ग्लोबल कल्चर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो अक्सर सदियों से चली आ रही परंपराओं से उत्पन्न होता है, और बदलते मौसम के साथ चेंज होता रहता है। ‘साड़ी’ जो भारतीय संस्कृति और प्रतिष्ठित मान्यता से प्राप्त सिल्हूटों में से एक है। साड़ी की सिलव्टों में ही इसकी सुंदरता-चंचलता और स्त्रीत्व का प्रतीक है। मैं इसे पहनकर बहुत ही गर्व फिल करती हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here