पृथ्वी शॉ की धमाकेदार डेब्यू सेंचुरी से फाइनल में पहुंची मुंबई

0

पृथ्वी शॉ ने गजब का जज्बा दिखाते हुए न सिर्फ प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपने पदार्पण मैच में शानदार शतक जड़ा, बल्कि सेमीफाइनल में तमिलनाडु के खिलाफ छह विकेट की जीत दिलाते हुए अपनी टीम मुंबई को रिकॉर्ड 46वीं बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश कराया।

पृथ्वी शॉ

17 साल के पृथ्वी शॉ ने राजकोट में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल मुकाबले में तमिलनाडु के खिलाफ दूसरी पारी में शानदार शतक जमाया। पृथ्वी ने 151 गेंदों का सामना करते हुए अपना शतक पूरा किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुंबई की जीत के हीरो 17 साल के ओपनिंग बल्लेबाज पृथ्वी साबित हुए जिन्होंने एकतरफा अंदाज में 120 रन की पारी खेली।

अपने प्रथम श्रेणी करियर का आगाज कर रहे पृथ्वी ने पहले ही मैच में न सिर्फ शतक ठोका बल्कि अपने दम पर 41 बार की चैंपियन टीम को फाइनल में भी पहुंचा दिया।

गौरतलब है कि सचिन तेंदुलकर ने भी अपने पहले रणजी मैच में शतक बनाकर धमाका किया था. 10 दिसंबर, 1988 को मुंबई की ओर से सचिन ने अपना पहला रणजी मैच खेला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here