गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद 2 रुपये तक बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

0

वर्ष 2014 में अच्छे दिन लाने के वादे के साथ केंद्र की सत्ता में आई मोदी सरकार अब आम आदमी की राह में खुद ही मुसीबत पैदा कर रही है। देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। इसी बीच ख़बर है कि, गुजरात चुनाव खत्म होने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में करीब 2 रुपये की बढ़ोत्तरी हो सकती है। इसका सीधा असर आम उपभोक्ताओं की जेब पर पड़ेगा।

पेट्रोल
file photo

मनी भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सपर्ट्स का कहना है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद तेल कंपनियां कीमतें एक झटके में 2 रुपए तक बढ़ा सकती हैं। अगर ऐसा होता है तो सरकार की तरफ से इस बार राहत मिलने के आसार कम हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सपर्ट्स का मानना है कि सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल पर एक्साइड ड्यूटी कम किए जाने के बाद से क्रूड 19 फीसदी महंगा हो चुका है। ऐसे में जल्द ही पेट्रोल और डीजल की कीमतें एक बार में ही 2 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ सकती हैं।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि गुजरात चुनाव के बाद तेल कंपनियां कीमतें एक झटके में 2 रुपए तक बढ़ा सकती हैं, जिसके बाद उसी प्राइस बेस पर आगे कीमतें रिवाइज्ड होती रहेंगी।

बता दें कि, अक्टूबर की शुरूआत में महंगे हो रहे पेट्रोल-डीजल को देखते हुए सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 2 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी कम कर दी थी। उसके बाद से क्रूड 19 फीसदी तक महंगा हो चुका है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 3 अक्टूबर को इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड 55 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर था जो 12 दिसंबर को 65.70 डॉलर के लेवल पर पहुंच गया। वहीं, 3 अक्टूबर को इंडियन बास्केट में क्रूड 55.36 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर था जो 30 नवंबर (अंतिम अपडेट) को 61.60 डॉलर के भाव पर पहुंच गया।

ख़बरों के मुताबिक, पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर चिंता जरूर जताई है। हालांकि, एक्साइज ड्यूटी घटाने के सवाल पर उन्होंने कुछ नहीं कहा था।

गौरतलब है कि, गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम दौर के लिए गुरुवार (14 दिसंबर) को मतदान किया जा रहा है। वोटिंग सुबह 8 बजे से शुरू हुई जो शाम 5 पांच बजे तक चलेगी। कड़ी सुरक्षा के बीच अहमदाबाद, गांधीनगर, बनासकांठा समेत 14 जिलों की 93 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं।

बता दें कि, पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोट डाले जा चुके हैं, पहले चरण में 68 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। वोटों की गिनती हिमाचल प्रदेश विधानसभा के साथ ही सोमवार (18 दिसंबर) को होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here