स्वच्छ अभियान को लेकर दिल्ली में ‘हमारा बचपन’ के स्वच्छता दूत का दिखा कमाल, बच्चों ने शेयर किए अपने विचार

0

जहां एक तरफ ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तीन साल पूरा होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्योग, खेल, सिनेमा समेत विभिन्न क्षेत्रों की प्रमुख हस्तियों को खत लिखकर ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के लिए उनका समर्थन मांगा है। वहीं दूसरी ओर देश की राजधानी दिल्ली के लोग स्वच्छता को लेकर कितने जागरुक है इसका अंदजा आप इसी ख़बर से लगा सकते है। शनिवार(11 नवम्बर) को ‘हमारा बचपन अभियान’ दिल्ली कि ओर से स्वछता अभियान को लेकर एक प्रेस वार्ता का आयोजन इंडिया कोपरेटिव सेन्टर किया गया था।

सितम्बर और अक्टूबर माह में ‘हमारा बचपन अभियान’ के 96 चाइल्ड लीडर्स ने दिल्ली शहर कि 22 बस्तियों में स्वछता ऑडिट, साफ सफाई अभियान, जागरूकता रैली, नुक्कड़ नाटक, दीवार लेखन, पोस्ट कार्ड राइटिंग किया गया, साथ ही 50 शहरी बस्तियों में 115  सामुदायिक बैठके 72 महिला समूह बैठक का आयोजन कर 3200 बच्चो, 520 युवाओ, 10 पार्षद को जोड़ते हुए स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया।

प्रेस वार्ता के दौरान चाइल्ड लीडर नेहा ठाकुर ने बताया कि ऑडिट के माध्यम से बस्तियों में जाकर साफ सफाई कि स्थति का जायजा लिया जिसमे पाया कि बस्तियों में नियमित रूप से साफ सफाई नहीं होती है, कचरे फेकने के लिए डस्टबिन नहीं है, नालियों कि सफाई नहीं होती है, समुदाय में जागरूकता का आभाव है, निगम कर्मचारी नियमित सफाई नहींकरते है, खुले में सोच करने पर मजबूर है, सामुदायिक शौचालय का आभाव है, पीने का साफ पानी नहीं है।

वहीं अनु और स्वेता चाइल्ड लीडर ने बताया कि लोगो को जगरूककरने के दौरान बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा लोग कहते है कि बच्चे क्या कर सकते है आप बहुत छोटे हो, इस सब परेशानियों के बाद भी हमने हिम्मत नहीं हारी और अपना काम करते रहे।

बच्चो ने दिए अपने सुझाव:

1- हमारा दिल्ली शहर चाइल्ड फ्रेंडली सिटी बने और इसमेबच्चों कि शहभागिता सुनिश्चित किया जाये।

2- शहरी नियोजन और स्कीम में बच्चो कि शहभागिता को सुनिचित किया जाये।

3- बच्चो के प्रयास को आगे लोग जागरूक होकर नियमित कार्य करे।

वार्ता पैनल में उपस्थित मीडिया साथियो से क्लब के चाइल्ड लीडर नेहा ठाकुर, स्वेता, दीपांशु सिंह, “रावत” शिवानी सिंह, रानी, लक्की राठौर, रोहित, वर्षा, स्वेता, आदि चाइल्ड लीडरो ने अपनी अनुभव और चुनोतियो को साझा करते हुए बताया की हम लोग आंगनवाड़ी केन्द्र विधालय, समुदाय के आलावा हर वर्गों के साथ संपर्क कर उनको जागरूक करते है।साथ ही इन बच्चो ने बताया कि पिछली एंव अगली पीढ़ी को संवेदनशील करने का प्रयास कर रहे है।

सिटी कोर्डिनेटर आकाश श्री वास्तव ने कहा बच्चो के विकास में बच्चो कि भागीदारी ली तभी हम कह सकते है कि कोई भी नियोजन चिल्ड्फ्रेंडली है क्योकि देश कि आबादी का ४२ प्रतिशत हिस्सा बच्चो का है जिनके भविष्य के बारे में उनसे राय लेना चाहिए। साथ ही हमारा बचपन अभियान से तरुण शर्मा, आरती परिहार, नितिन बालियान, रेखा पासवान और सोनू सोलंकी उपस्थित थे।

बता दें कि, कुछ दिनों पहले ही राजधानी दिल्ली में साफ़-सफाई को लेकर इन बच्चों ने नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया था। बाल लीडरो ने दो अलग अलग नाटक किये जिससे लोगो को यह जागरूक किया गया कि किस प्रकार हम अपनी बस्ती को साफ़ रख सकते है। इस अभियान में सभी समूह के लोगो ने भाग लिया चाहे बाल समूह, युवा समूह, महिला समूह, एवं बस्ती के अन्य लोग जिसमें कुल भागीदार थे।

जिन्होंने अपना पूरा योगदान दिया इस कार्यकम में निम्न बातो पर बात कि गई जैसे :- – “हमारा बचपन अभियान” का परिचय, “युवा समूह”, महिला समूह और “बाल सदस्यो” का। – “स्वाच्छ भारत अभियान” को लेकर बस्ती के लोगो को जागरूक करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here