‘वंदे मातरम’ पर लाइव डिबेट के दौरान BJP प्रवक्ता ने महिला पत्रकार का किया अपमान, एंकर को कहा ‘शट-अप’

0

बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय रचित राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ फिर से एक बार चर्चा में है। इस बार यह हलचल भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता प्रेम शुक्ला द्वारा वंदे मातरम को लेकर लाइव टीवी डिवेट के दौरान एक महिला एंकर को कथित तौर पर अपमान करने की वजह से है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दरअसल, शनिवार(19 अगस्त) को इंडिया टुडे पर महाराष्ट्र के औरंगाबाद नगर निगम की बैठक में वंदेमातरम को लेकर जो हंगामा हुआ उसी पर हो रहे डिबेट के दौरान बीजेपी नेता ने चैनल की महिला एंकर देविना गुप्ता को लाइव शो के दौरान ‘शट-अप’ कहते हुए अपमान किया। इतना ही नहीं महिला एंकर द्वारा वंदे मातरम का सहीं अर्थ पूछने पर प्रेम शुक्ला इतना नाराज हो गए कि वह लाइव शो के दौरान ही उठकर चले गए।

बता दें कि शनिवार को महाराष्ट्र के औरंगाबाद नगर निगम की बैठक में वंदेमातरम को लेकर शनिवार को जमकर हंगामा हुआ। दरअसल, बैठक के दौरान वंदेमातरम के समय कथित तौर पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के दो पार्षद खड़े नहीं हुए थे। इस मामले में तीन एआईएमआईएम के पार्षदों को 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है।

इस मुद्दे पर बहस के दौरान, महिला एंकर से बीजेपी नेता से सवाल करते हुए पूछा कि, ‘औरंगाबाद नगर निगम के अंदर पार्टी के नेताओं द्वारा नारा लगाया गया कि, ‘यहां वही राज करेगा जो हिंदू हित की बात करेगा’, क्या आपके नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नारा ‘सबका साथ, सबका विकास’ के खिलाफ नहीं बोल रहे हैं? एंकर ने आगे पूछा कि क्यों बार-बार वंदे मातरम पर बहस होती है?’

इस पर प्रेम शुक्ला ने जवाब देते हुए कहा कि तो क्या वंदे मातरम को बैन कर देना चाहिए, या जो वंदे मातरम का अपमान कर रहे हैं उनका समर्थन करना चाहिए? इसके बाद एंकर ने प्रेम शुक्ला को बोलने के लिए 30 सेकंड का समय दिया, जिस पर बीजेपी नेता भड़क गए।

उन्होंने कहा कि आप(एंकर) एक गली के गुंडे की पार्टी(AIMIM) को 5 मिनट देंगी और मुझे सिर्फ 30 सेकंड। बहस के दौरान शुक्ला एंकर पर इतना भड़क गए कि उन्होंने एक महिला(एंकर) का भी ध्यान नहीं रखा और वह एंकर देविना गुप्ता को शटअप बोलते हुए लाइव शो के दौरान ही उठकर चले गए।

‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में दी सफाई

इस मामले में ‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में बीजेपी प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने आरोप लगाया कि AIMIM के नेता ने वंदे मातरम को लिखने वाले बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय को राष्ट्रद्रोही बता दिया, जिसका हमने विरोध किया। शुक्ला का आरोप है कि चट्टोपाध्याय को राष्ट्रद्रोही बताए जाने के बाद भी एंकर ने हमे बोलने से रोक दिया। जिसके बाद हमे मजबूरी में एंकर को शट-अप कहना पड़ा और शो छोड़कर वहां से जाना पड़ा।

महिला एंकर के साथ बदतमीजी करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि महिला एंकर हो या पुरुष अगर उनके शो में कोई वंदे मातरम के रचयिता या राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को राष्ट्रद्रोही कह रहा है तो उनका फर्ज बनता है वह उस शख्स का विरोध करे, नहीं तो हमे जवाब देने का मौका मिलना चाहिए, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। शुक्ला ने कहा कि एंकर द्वारा शिवसेना प्रवक्ता के साथ-साथ मुझे भी AIMIM के प्रवक्ता को जवाब देने का मौका नहीं दिया गया, जिसके बाद मजबूरन में शट-अप कहकर एंकर को चुप कराना पड़ा।

(देखिए वीडियो)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here