गुजरात: गाय का शव उठाने से इंकार करने पर गर्भवती दलित महिला सहित पूरे परिवार को पीटा

0

गुजरात के बनासकांठा जिले के करजा गांव में एक गर्भवती दलित महिला सहित उसके परिजन की उस वक्त कथित तौर पर बुरी तरह पिटाई की गई, जब उन्होंने एक गाय का कंकाल कहीं दूर फेंक आने से इनकार कर दिया।

पुलिस ने शनिवार को बताया कि इस सिलसिले में आईपीसी और एससी-एसटी (उत्पीड़न रोकथाम) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है. निलेश रनवासिया की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी के मुताबिक, दरबार समुदाय के करीब 10 लोगों ने शुक्रवार रात उसकी गर्भवती पत्नी सहित उसके पूरे परिवार की उस वक्त पिटाई की, जब उन्होंने गाय के शव को दूर फेंक आने से इनकार कर दिया।

Also Read:  शॉपिंग मॉल के चेजिंग रूम में कपड़े बदल रही लड़की का MMS बना रहा मैनेजर गिरफ्तार

गर्भवती महिला और दो अन्य औरतों सहित छह लोग पिटाई की वजह से घायल हुए हैं. गर्भवती महिला को पालनपुर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जबकि मामूली तौर पर जख्मी हुए निलेश एवं अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

Also Read:  भाजपा हिन्दुओं की पार्टी है तो फिर गुजरात में पटेल समुदाय पर गोलियां क्यों चलवाई?- केजरीवाल

भाषा की खबर के अनुसार,बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक नीरज बड़गूजर ने कहा कि पुलिस तुरंत गांव में पहुंची और कुछ ही घंटों के भीतर छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान बतावर सिंह चौहान (26), मकनुसिंह चौहान (21), योगीसिंह चौहान (25), बावरसिंह चौहान (45), दिलवीर सिंह चौहान (23) और नरेंद्र सिंह चौहान (23) के तौर पर की गई है. बड़गूजर ने कहा कि गांव में तनाव बढ़ने के कारण पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है और गश्त बढ़ा दी है।

Also Read:  Those who consider India their country, should treat cow as mother: J'khand CM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here