राम मंदिर मामले को लेकर प्रवीण तोगडिया ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा- मोदी जी मंदिर नहीं बना सकते हैं तो इस्तीफा दे दें

0

अतंरराष्ट्रीय हिंदू परिषद् के अध्यक्ष प्रवीण तोगडिया ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने राम मंदिर मामले में देश के हिन्दुओं का विश्वास तोड़ा है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही केंद्र सरकार ने किसानों और युवाओं के साथ भी छलावा किया है।

मोदी

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक जयपुर में संवाददाताओं से बातचीत में प्रवीण तोगडिया ने कहा, ‘मोदी जी मंदिर नहीं बना सकते हैं तो इस्तीफा दे दें। हमें तो देश में राम, किसानों को फसलों का दाम और युवाओं को काम देने वाली सरकार चाहिए थी इसलिये लोगों ने वोट दिया था। देश को न तो राम मिले, न किसानों को दाम मिला और न ही युवाओं को काम मिला।’

साथ ही उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आज कहा कि देश में नई शिक्षा नीति तैयार है। आरएसएस सरकार से शिक्षा नीति तैयार करवा सकती है तो साढे चार वर्षों में आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से राम मंदिर कानून क्यों नहीं बनवाया।

उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साढे चार वर्षो के शासन में 52 हजार किसानों ने आत्महत्याएं की और किसानों पर 12 लाख करोड़ का कर्ज है। इसे दूर क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा केन्द्र में बहुमत की सरकार होने बावजूद किये गये वादों को पूरा नहीं करने के लिए बीजेपी को देश से माफी मांगनी चाहिए।

तोगडिया ने बताया कि उनकी राजनैतिक पार्टी की लांचिग फरवरी के प्रथम सप्ताह में दिल्ली में होगी। बता दें कि प्रवीण तोगड़िया ने बुधवार को कहा था कि वह एक महीने के भीतर एक राजनीति दल बनाएंगे और आगामी लोकसभा चुनावों में लगभग सभी सीटों पर उम्मीदवारों को उतारेंगे।

बता दें कि अभी हाल ही में प्रवीण तोगड़िया ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि केंद्र में बीजेपी की सरकार बने चार साल से अधिक समय हो जाने के बाद भी राम के नाम पर वोट लेने वालों ने मंदिर निर्माण के लिए कोई पहल नहीं की। साथ ही उन्होंने बीजेपी पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी ने दिल्ली में 500 करोड़ रुपये का आलीशान कार्यालय बना डाला, मगर अयोध्या में रामलला अभी तक टांट पर बैठे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here