शहाबुद्दीन की रिहाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे प्रशांत भूषण

0

वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में शहाबुद्दीन की जमानत के खिलाफ याचिका दायर करेंगे, प्रशांत भूषण के एक प्रतिनिधि ने बुधवार को तेजाबकांड में मारे गये दो सगे भाइयों के पिता चंदकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू से सीवान में मुलाकात की है।

शहाबुद्दीन की रिहाई के बाद ही वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने पटना हाईकोर्ट द्वारा शहाबुद्दीन को दिए गए बेल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि इस तरह के खतरनाक तत्व को जमानत पर रिहा करना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि ऐसे शख्स को बेल दी गई है जिस पर जघन्य अपराधों के मामले हैं।

Also Read:  मोदी सरकार के जश्न पर भारी पड़ा सहारनपुर हिंसा का दाग

उन्होंने यह खतरा भी जताया था कि हो सकता है कि सरकार की ओर से शहाबुद्दीन को मदद की गई है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता है कि सरकार ने क्या मदद की होगी. अब देखना यह है कि प्रशांत भूषण की याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय का रुख क्या होता है. क्योंकि, शहाबुद्दीन से पीड़ित परिवारों ने भी न्याय की गुहार लगाई है.

Also Read:  लाखों चाहने वालों के बीच भी अकेली थी जयललिता, आखिरी समय में कोई भी परिवार का सदस्य नहीं था पास

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि शहाबुद्दीन मामले में राज्य सरकार अपना  राजधर्म निभायेगी. उन्होंने खुल कर कहा कि गुरुवार को प्रशात भूषण याचिका दायर कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट इस संबंध में कोई भी जानकारी मांगेगी, तो सरकार मजबूती से अपना पक्ष रखेगी

Also Read:  Prashant Bhushan sends legal notice to Manish Sisodia

जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा, ‘‘नीतीश कुमार सरकार ने पिछले 11 साल में इस स्थापित प्रक्रिया का पालन किया है कि यदि राज्य सरकार किसी की जमानत से संतुष्ट नहीं है तो यह उच्च्परी अदालत अपील करेगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह अतीत में भी किया गया है और शाहबुद्दीन के मौजूदा मामले में भी इसका पालन किया जाएगा।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here