JDU के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर साधा निशाना

0

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर पार्टी लाइन से अलग हटकर बयान देने वाले बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाईटेड (JDU) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और देश के जाने-माने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने इस बार बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी पर हमला किया है। प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हें परिस्थितियों का डेप्युटी सीएम बताया है।

प्रशांत किशोर

प्रशांत किशोर ने मंगलवार (31 दिसंबर) को अपने ट्वीट में लिखा, “बिहार में नितीश कुमार का नेतृत्व और JDU की सबसे बड़े दल की भूमिका बिहार की जनता ने तय किया है, किसी दूसरी पार्टी के नेता या शीर्ष नेतृत्व ने नहीं। 2015 में हार के बाद भी परिस्थितिवश उपमुख्यमंत्री बनने वाले सुशील कुमार मोदी से राजनीतिक मर्यादा और विचारधारा पर व्याख्यान सुनना सुखद अनुभव है।”

बता दें कि, इससे पहले प्रशांत किशोर ने आगामी विधानसभा चुनाव में जेडीयू को भाजपा की तुलना में अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने की सलाह दी थी। प्रशांत किशोर के इस बयान पर सुशील मोदी ने पलटवार किया था। अगले साल बिहार विधानसभा चुनाव से पहले ही राज्य में भाजपा और उसकी सहयोगी जेडीयू के बीच दरारें बाहर आने लगी हैं।

सुशील मोदी ने सोमवार को अपने ट्वीट में लिखा था, “2020 का विधानसभा चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ा जाना तय है। सीटों के तालमेल का निर्णय दोनों दलों का शीर्ष नेतृत्व समय पर करेगा। कोई समस्या नहीं है। लेकिन जो लोग किसी विचारधारा के तहत नहीं, बल्कि चुनावी डाटा जुटाने और नारे गढ़ने वाली कंपनी चलाते हुए राजनीति में आ गए, वे गठबंधन धर्म के विरुद्ध बयानबाजी कर विरोधी गठबंधन को फायदा पहुंचाने में लगे हैं। एक लाभकारी धंधे में लगा व्यक्ति पहले अपनी सेवाओं के लिए बाजा तैयार करने में लगता है, देशहित की चिंता बाद में करता है।”

बता दें कि, प्रशांत किशोर हाल में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को लगातार निशाना बनाते आए हैं। दरअसल, नागरिकता संशोधन कानून का जनता दल यूनाइटेड ने संसद में समर्थन किया जबकि पार्टी के ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने इसका विरोध किया।

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here