प्रशांत किशोर बोले- 2020 के बिहार चुनाव में JDU को BJP की तुलना में अधिक सीटों पर चुनाव लड़ना चाहिए

0
6

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले जनता दल यूनाईटेड (JDU) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और देश के जाने-माने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की वरिष्ठ सहयोगी होने के नाते उनकी पार्टी को आगामी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तुलना में अधिक सीटों पर चुनाव लड़ना चाहिए। बता दें कि, दोनों दलों ने इस साल लोकसभा चुनाव में समान संख्या में सीटों पर चुनाव लड़ा था।

प्रशांत किशोर
(PTI File Photo)

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, जनता दल (यूनाइटेड) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने रविवार को संवाददाताओं से कहा, ‘मेरे अनुसार लोकसभा चुनाव का फॉर्म्युला विधानसभा चुनाव में दोहराया नहीं जा सकता।’ उन्होंने कहा, ‘अगर हम 2010 के विधानसभा चुनाव को देखें, जिसमें जेडीयू और भाजपा ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था तो यह अनुपात 1:1.4 था। अगर इसमें इस बार मामूली बदलाव भी हो, तो भी यह नहीं हो सकता कि दोनों दल समान सीटों पर चुनाव लड़ें।’

किशोर ने आगे कहा, ‘जेडीयू अपेक्षाकृत बड़ी पार्टी है, जिसके करीब 70 विधायक हैं जबकि भाजपा के पास करीब 50 विधायक हैं। इसके अलावा, विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार को एनडीए का चेहरा बनाकर लड़ा जाना है।’

प्रशांत किशोर हाल में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को लगातार निशाना बनाते आए हैं। दरअसल, नागरिकता संशोधन कानून का जनता दल यूनाइटेड ने संसद में समर्थन किया जबकि पार्टी के ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (पीके) ने इसका विरोध किया।

बता दें कि, किशोर ने सीएम नीतीश कुमार से हाल ही में हुई मुलाकात के बाद कहा था कि कहा कि जेडीयू को CAA से बहुत दिक्कत नहीं है, बशर्ते यह एनआरसी के साथ न हो। विरोध को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि NRC को बिहार में लागू नहीं किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here