अब प्रशांत किशोर के CAG को टैक्स नोटिस

0

पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव कैम्पेन गुरु प्रशांत किशोर की अगुवाई वाले एसोसियेशन ऑफ सिटिज़न फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस (cag) को सर्विस टैक्स अथॉरिटीज ने समन जारी किया है। CAG की स्थापना साल 2013 में हुई थी। रेविन्यू अथॉरिटीज ने CAG से पिछले चार साल के दौरान हुई अपनी आय और आय के सौत्र की जानकारी देने को कहा है।

Also Read:  दंगल के ट्रेलर की सोशल मीडिया पर मची धूम, रौंगटे खड़े कर देगा 'दंगल' का दमदार ट्रेलर

Prashant-Kishore-with-Narendra-Modi

इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक 26 अप्रैल को डाइरेक्टरट जनरल ऑफ सेंट्रल एक्साइज़ इन्टेलिजन्स, नासिक ने एसोसियेशन ऑफ सिटिज़न फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस के अहमदाबाद के पते पर ये समन जारी किया है। समन में 4 मई को CAG के अधिकारियों को सेंट्रल एक्साइज़ इन्टेलिजन्स के सामने पेश होने को कहा गया था। समन में कहा गया है कि इसका पालन न करने पर आईपीसी की धारा 174 और 175 के तहत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

Also Read:  दिल्ली में आपातकाल, सांस्कृतिक कार्यक्रम से सिर्फ इसलिए गिरिफ्तार क्यूंकि वह लड़के JNU जैसे लगते थे

इस पूरे मामले पर प्रशांत किशोर ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है। गौरतलब है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रशांत किशोर की इसी कंपनी ने नरेंद्र मोदी का चुनाव प्रबंधन किया था। लेकिन जल्द ही प्रशांत किशोर ने मोदी कैंप से अलग होकर बिहार में नीतीश सरकार के लिए कैम्पेन किया और महागठबंधन को शानदार सफलता दिलाई। आजकल प्रशांत किशोर उत्तर प्रदेश और पंजाब में विधानसभा चुनाव के लिए काँग्रेस को सेवाए दे रहे है।

Also Read:  शाहरुख ने प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष बयान दर्ज कराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here