प्रशांत भूषण ने अर्नब के ‘रिपब्लिक’ को बताया आतंकवादी चैनल, कहा- सरकार का पालतू कुत्ता है

0

वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने बड़े ही धमाके के साथ पिछले महीने 6 मई 2017 को अपने नए इंग्लिश न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च किया था। रिपब्लिक चैनल के जरिए अर्नब गोस्वामी भी जोरदार तरीके से वापसी कर चुके हैं। अर्नब ने आते ही अपने पहले शो में राष्ट्रीय जनता दल(आरजेडी) के मुखिया लालू प्रसाद यादव और मोहम्मद शहाबुद्दीन के बीच बातचीत का एक टेप रिलीज कर सनसनी फैला दी।

फाइल फोटो।

हालांकि, गोस्वामी ने जब से अपना चैनल शुरू किए हैं तभी से विवादों में रहे हैं। कई राजनीतिक पार्टियां अर्नब पर बीजेपी की विचारधारा से प्रेरित होने का आरोप भी लगा चुकी हैं। इस बीच सुप्रीम कोर्ट के प्रसिद्ध वकील और स्वराज अभियान के संस्थापक सदस्य प्रशांत भूषण ने अर्नब गोस्वामी और उनके चैनल ‘रिपब्लिक’ पर जमकर अपनी भड़ास निकाली है।

भूषण ने गुरुवार(22 जून) को जोरदार हमला बोलते हुए अर्नब के चैनल ‘रिपब्लिक’ को मीडिया के भेष में छुपा हुआ ‘आतंकवादी’ तक करार दे दिया है। भूषण का यह बयान उस खबर को लेकर आई है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि मशहूर एंटी न्यूकलियर एक्टिविस्ट डॉ. एस पी उदयकुमार ने प्रेस काउंसिल से लिखित शिकायत में कहा है कि ‘रिपब्लिक टीवी’ और उसके रिपोर्टर्स उनको और उनके परिवार को परेशान कर रहे हैं।

दरअसल, एस पी उदयकुमार ने प्रेस काउंसिल से ये शिकायत बुधवार(21 जून) को की थी। इसी खबर के लिंक को शेयर करते हुए प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर अर्नब गोस्वामी और उनके चैनल पर हमला बोला है। भूषण ने ट्वीट किया- गोस्वामी का ‘रिपब्लिक’ मीडिया के भेष में छुपा हुआ ‘आतंकवादी’ है। भूषण ने अर्नब को छद्म राष्ट्रवादी और सरकार का पालतू कुत्ता तक करार दे दिया है।

एस पी उदयकुमार ने प्रेस काउंसिल से ‘रिपब्लिक’ की शिकायत करने के बारे में जानकारी देते हुए अपने फेसबुक वॉल पर पूरी जानकारी दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अर्नब का चैनल उनकी कंपनी एआरजी आउटलियर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड का हिस्सा है। हालांकि, चैनल शुरू होने से पहले मालिकाना हक को लेकर काफी विवाद भी हुआ था, जो अभी भी जारी है। दरअसल, कई मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि रिपब्लिक चैनल में NDA के वाइस चेयरमैन और राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर और बीजेपी समर्थक मोहनदास पै का पैसा लगा हुआ है।

दरअसल, आचोलकों का आरोप है कि अर्नब गोस्वामी ने ‘टाइम्स नाउ’ छोड़ने के बाद जब से वह अपना न्यूज चैनल शुरू किए हैं उसके बाद से वह बीजेपी और आरएसएस की विचारधारा से प्रेरित हो गए हैं। हालांकि, अर्नब गोस्वामी ने इन आरोपों को कभी गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन चैनल शुरू होने के बाद भी यह आरोप उनका पीछा नहीं छोड़ रहा है।

पिछले दिनों ही ट्विटर पर कांग्रेस डिजिटल टीम के गौरव पंधी ने ‘अर्नब बनाम अर्नब’ नाम का एक वीडियो शेयर किया था जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया था। इस वीडियो में अर्नब गोस्वामी के पुराने चैनल ‘टाइम्स नाउ’ में किए गए पुराने डिबेट के दौरान कही गई बातों को उनके नए चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ में कही बातों से तुलना की गई थी।

इस वीडियो के जरिए आलोचकों ने आरोप लगाया कि जब अर्नब गोस्वामी ‘टाइम्स नाउ’ में डिबेट करते थे उस दौरान वह किसी धार्मिक मुद्दों पर बात करने से बचते की कोशिश करते थे और वह देश के अहम मुद्दों पर सवाल उठाते थे, लेकिन अपने नए चैनल पर डिबेट के दौरान कथित तौर पर हिंदुवादी संगठनों का पुरजोर वकालत कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here